class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका और सऊदी अरब में 7 हजार करोड़ का हथियार सौदा

President Donald Trump’s visit to Saudi Arabia

घरेलू मोर्चे पर घिरे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शुक्रवार को पहली विदेश यात्रा पर सऊदी अरब पहुंचे। यात्रा के पहले दिन अमेरिका ने सऊदी अरब से 110 अरब डॉलर (7090 करोड़ रुपये) के हथियार बेचने का सौदा किया।

ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया, बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुश्नर के साथ रियाद पहुंचे, जहां हवाई अड्डे पर उनका भव्य स्वागत किया गया। सऊदी शासक किंग सलमान खुद उनकी अगवानी करने पहुंचे। गौरतलब है कि ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के बाद से ही उनकी टीम के रूस से संबंधों को लेकर निशाने पर हैं। ट्रंप खुद जांच बंद करने के लिए एफबीआई निदेशक जेम्स कोमे पर दबाव डालने के आरोप का सामना कर रहे हैं। 

मेलानिया बिना हिजाब के नजर आईं
मेलानिया अन्य विदेशी हस्तियों की तरह बिना सिर ढंके एयरफोर्स वन से बाहर आईं। सऊदी अरब में महिलाओं को सिर ढंकने की परंपरा है। ट्रंप पहले अमेरिकी राष्ट्रपति हैं, जिन्होंने पहली विदेश यात्रा के लिए किसी मुस्लिम देश को चुना है। 

सऊदी से सौदे में ट्रंप के दामाद ने दखल दिया
सऊदी से अरबों डॉलर के सौदे का दाम घटाने के लिए ट्रंप के दामाद जेरेड कुशनर ने लॉकहीड मार्टिन के एक अधिकारी को फोन किया था। न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक रिपोर्ट में इसका खुलासा किया है। 

रिपोर्ट के अनुसार, जब कुशनर को पता चला कि अधिक कीमत के कारण सऊदी अरब इस प्रणाली को खरीदने से पीछे हट सकता है, तो उन्होंने लॉकहीड मार्टिन की सीईओ मेरिलिन ए ह्यूसन को फोन किया। उन्होंने ह्यूसन से पूछा कि क्या कंपनी कीमत घटा सकती है। इस पर ह्यूसन ने कीमतों पर फिर से विचार करने की बात कही। कुशनर के इस हस्तक्षेप से ट्रंप प्रशासन पर लग रहे इन आरोपों को बल मिला है कि उनका प्रशासन कामकाज में औपचारिक प्रक्रियाओं को नजरअंदाज कर रहा है। 

ओबामा के शासन में बिगड़े रिश्ते बनाने की कोशिश 
बराक ओबामा के शासनकाल के दौरान अमेरिका के सऊदी से रिश्ते बिगड़ गए थे। ओबामा ने ईरान से परमाणु समझौता करने के साथ यमन के सैन्य अभियान में सऊदी की मदद करने से इनकार कर दिया था। मिस्र के राष्ट्रपति होस्नी मुबारक के तख्तापलट का समर्थन करने और बशर अल असद के खिलाफ सीधी कार्रवाई से ओबामा का इनकार भी सऊदी शासकों को रास नहीं आया।

मुस्लिम देशों से संबंध सुधारने की कोशिश
चुनाव प्रचार के दौरान और राष्ट्रपति बनने के बाद आतंकवाद को लेकर मुस्लिमों और मुस्लिम देशों पर निशाना साधने वाले ट्रंप ने रियाद यात्रा के जरिये इस्लामिक देशों से संबंध सुधारने की कोशिश कर रहे हैं। मध्यपूर्व में सऊदी अरब सबसे ताकतवर देश है और सुन्नी धड़े वाले देशों का अगुआ है। सऊदी के सैन्य अभियान में हजारों नागरिकों के मारे जाने पर चुप ट्रंप शिया बहुल देशों के अगुआ ईरान के खिलाफ आक्रामक रहे हैं। 

महत्वपूर्ण करार
384 अरब रुपये में 150 ब्लैकहॉक हेलीकॉप्टर का सौदा 
960 करोड़ रुपये का करार जीई इलेक्ट्रिक का सऊदी अरब से 
3200 करोड़ का सौदा सऊदी की अरामको और अमेरिकी कंपनियों में 

पहली विदेश यात्रा

10 दिन के दौरे में इजरायल, इटली और बेल्जियम की यात्रा भी करेंगे
14 मुस्लिम देशों के प्रतिनिधियों को संबोधित करेंगे ट्रंप 21 मई को
06 देशों की खाड़ी सहयोग परिषद के सम्मेलन में भी शामिल होंगे
अरब-नाटो सहयोग सम्मेलन में भी शिरकत करेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति

उन्नत हथियार
मिसाइल रक्षा प्रणाली थॉड 
लड़ाकू विमान एफ-35
अत्याधुनिक टैंक
उन्नत युद्धपोत भी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:US, Saudi agree arms deals worth almost $110 billion