class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक भी वोट डाले बिना बन गईं राष्ट्रपति

देश की पहली महिला राष्ट्रपति भी

1/3 देश की पहली महिला राष्ट्रपति भी

सिंगापुर में बुधवार को अजीब नजारा देखने को मिला। यहां एक भी वोट डाले बगैर एक महिला राष्ट्रपति बन गई। मुस्लिम मलय अल्पसंख्यक समुदाय से आने वाली हलीमा याकूब संसद की पूर्व अध्यक्ष हैं। राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनने से पहले हलीमा सत्तारूढ़ एक्शन पार्टी की ओर से पिछले दो दशक से संसद सदस्य थीं। जिनको देश का नया राष्ट्रपति बनाया गय है। इसके साथ ही यह देश की पहली महिला राष्ट्रपति भी बन गई हैं। 
जमकर हो रही आलोचना
बिना मतदान के हुए इस निवार्चन  को अलोकतांत्रिक बताकर लोग इसकी आलोचना कर रहे हैं।  देश में पहले से ही चुनाव की प्रक्रिया को लेकर अशांति थी क्योंकि ऐसा पहली बार हो रहा था जब खास जातीय समूह मलय समुदाय के लिए राष्ट्रपति पद आरक्षित कर दिया गया था। इसके बाद बिना वोट के ही हलीमा के हाथ में सत्ता सौंपने के फैसले ने लोगों का गुस्सा और बढ़ा दिया है। 


अगली स्लाइड में पढ़ें कैसे हुआ यह निर्वाचन
 

Next
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lady became president without even a single vote
बिटक्वॉइन 4000 डॉलर से नीचे खिसका, चीन के फैसले से घबराहटबच्चों को पिंजड़े में रखती थी ये महिला, रेस्क्यू टीम पहुंची तो बच्चे निकालने लगे सांप की तरह आवाज