class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीन ने भारत में हाई स्पीड रेल परियोजनाओं में दिखाई रुचि

China's latest high-speed train

चीन ने भारत में हाई स्पीड रेल परियोजनाएं स्थापित करने के अपने प्रस्ताव को नए सिरे से पेश करने में बुधवार को रुचि दिखाई। भारत ने इस तरह की पहली परियोजना के लिए जापान को अपना भागीदार चुना है।

चीन के विदेश मंत्रालय में प्रवक्ता गेंग शुआंग से जब मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना में जापानी प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि चीन को क्षेत्र के देशों में हाई स्पीड रेल समेत अन्य बुनियादी ढांचे को देखने में खुशी है। उन्होंने एक तरह से परियोजना की बहाली में रुचि दिखाते हुए कहा कि हम क्षेत्रीय सहयोग के लिए भारत व अन्य क्षेत्रीय देशों के साथ सहयोग को बढ़ावा देने को तैयार हैं। 
 
उन्होंने कहा कि जहां तक रेलवे सहयोग का सवाल है तो यह भारत व चीन के बीच व्यावहारिक सहयोग का हिस्सा है। हमारे बीच इस बारे में महत्वपूर्ण सहमति बनी है। दोनों देशों के बीच संबद्ध अधिकारियों के बीच संवाद हो रहा है और मौजूदा परियोजनाओं में रेल की गति बढ़ाई जा रही है। 

भारत व चीन में रेलवे के विकास हेतु सहयोग के अनेक समझौतों पर काम हुआ है जिसके तहत भारतीय रेलवे अभियंताओं को चीन में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। चीन एक रेल विश्वविद्यालय स्थापित करने में भी भारत की मदद कर रहा है। चीन ने भारत में कुछ रेलवे स्टेशनों के पुनरोद्धार का काम भी शुरू किया है। चीन में दुनिया का सबसे लंबा तीव्र गति रेल नेटवर्क है। चीन अपनी तीव्र गति रेल प्रौद्योगिकी का विदेशों में प्रचार प्रसार कर रहा है और वह भारत में पहला सौदा हासिल करने की दौड़ में था। उसने दिल्ली चेन्नई गलियारे के लिए व्यावहार्यता अध्ययन भी किया। चीन ने यह रुचि ऐसे समय में दिखाई है जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व जापान के प्रधानंत्री शिंजो अबे भारत की पहली बुलेट ट्रेन परियोजना की नींव रखने की तैयारी में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:China shows interest in high speed railway projects in India
कुलभूषण जाधव मामला: भारत ने आईसीजे को सौंपी लिखित दलील लंदन में लगी है सबसे खतरनाक हथियारों की प्रदर्शनी, जानिए दुनिया के घातक हथियारों के बारे में