class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तर कोरिया की कायरता: कैद से रिहा अमेरिकी छात्र आटो वार्मबीयर की मौत, सिर में लगी थी गहरी चोट   

Otto Warmbier

उत्तर कोरिया में जेल की सजा काटकर लौटे एक अमेरिकी छात्र आटो वार्मबीयर की मौत हो गई। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसे उत्तर कोरिया की कायरता बताया है।  

22 साल के वार्मबीयर उत्तर कोरिया में 15 महीने की जेल की सजा काटकर स्वदेश लौटा था। उ. कोरिया ने वार्मबीयर को कोमा की स्थिति से बाहर आने के तुरंत बाद ही रिहा किया था। 

अमेरिकी डाक्टरों का कहना है कि छात्र की सिर में गहरी चोट लगी है। इसके बाद उन्हें सिनसिनाटी में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

ट्रंप ने छात्र की मौत पर ट्वीट कर कहा,'किसी भी परिवार के लिए कम उम्र में अपने बच्चे को खोने से अधिक दुखदायी कुछ नहीं होता।' 

वर्जिनिया विश्वविद्यालय में पढ़ाई करने वाला छात्र वार्मबीयर को गत वर्ष के शुरू में उत्तर कोरिया की यात्रा के समय एक होटल से प्रचार चिह्न की चोरी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद उन्हें 15 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी। 

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून ने अमेरिकी छात्र की मौत पर जताया शोक
दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन ने वार्मबीयर की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए कहा है कि उत्तर कोरिया को दूसरे देश के नागरिकों को बिना किसी परेशानी के रिहा कर देना चाहिए। 

राष्ट्रपति कायार्लय के अनुसार, मून जे इन ने वार्मबीयर की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए कहा,'यह बेहद निंदनीय है कि उत्तर कोरिया मानव अधिकारों का सम्मान नहीं कर रहा है।'

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:american student Otto Warmbier released from north korea dies