class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

iPhone X : तो इसलिए लाइव डेमो में धोखा दे गया था फेस आईडी फीचर

iphone fail

एप्पल पार्क के स्टीव जॉब्स थियेटर में आयोजित इवेंट को अगर आपने ध्यान से देखा हो तो आपको जरूर पता होगा कि आईफोन एक्स का सबसे चर्चित फीचर फेशियल रिकॉग्निशन लॉन्चिंग के दौरान लाइव डेमो में ही फेल हो गया था। यह वो समय था जब फेशियल रिकॉग्निशन का डेमो दे रहे खुद कंपनी के सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग प्रेसिडेंट क्रेग फेडरिघी के भी पसीने छूट गए थे। डेमो के दौरान क्रेग ने फोन को लॉक किया और फेस आईडी के जरिए अनलॉक किया तो पहली बार में फोन अनलॉक नहीं हुआ। फोन पासवर्ड मांगने लगा। फिर क्रेग ने दोबारा ट्राई किया तब जाकर फोन अनलॉक हुआ।

क्यों बीच में धोखा दे गया फेस आईडी फीचर
एप्पल के जानेमाने सलाहकर चुघ रॉजर ने लॉन्चिंग के समय आई इस समस्या पर प्रकाश डाला है। उन्होंने बताया कि आईफोन एक्स का सिक्योर एन्क्लेव मैकेनिज्म बिल्कुल पहले जैसा है। सिक्योर एन्कलेव वो होता है जहां आईफोन हैंडसेट यूजर के फिंगरप्रिंट की न्यूमैरिक रिप्रेजेंटेशन को स्टोर करता है। जब भी कोई यूजर फिंगरप्रिंट के जरिए आईफोन को अनलॉक करता है तो सिक्योर एन्कलेव में सुरक्षित न्यूमैरिक रिप्रेजेंटेशन यूजर के फिंगरप्रिंट से मेल खाने के बाद ही फोन को अनलॉक करता है।

उन्होंने बताया कि डिवाइस को रीस्टार्ट करने पर सिक्योर एन्क्लेव को अनलॉक करने के लिए यूजर को पासकोड डालना होता है। आईफोन एक्स के फेशियल रिकॉग्निशन फीचर में भी यही प्रोसेस होता है। इसी वजह से जब फेडरिघी के आईफोन एक्स को लाइव डेमो से पहले रीस्टार्ट किया गया तो फोन फेस आईडी के जरिए फोन को अनलॉक करने की बजाए पासकोड मांगने लगा। दरअसल यह आईफोन एक्स में किसी तरह की खराबी नहीं थी, बल्कि फोन का एक छोटा सा सिक्योरिटी फीचर था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Iphone x facial recognition feature failed in live demo
अमेजन पर आज से मिलेगा लेनोवो ‘के8 नोट’, जानें इसके फीचर्स गैजेट-ऑटो अपडेट: पढ़ें गैजेट-ऑटो की पांच बड़ी खबरें