शनिवार, 28 फरवरी, 2015 | 12:19 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
रिटर्न में बतानी होगी विदेश की संपत्तिविदेश में काला धन मिलने पर जुर्माना 300 फीसद के हिसाब सेपंजाब, तमिलनाडु, हिमाचल में एम्स का एलान54 फीसदी युवा आबादी के लिए दक्षता योजना की ज़रूरतकैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देना हैगुजरात में फाइनेंशियल सेंटर तैयाररक्षा में पहले ही विदेशी निवेश की इजाजतइनकम टैक्स में कोई बदलाव नहींरोजगार बढ़ाने के लिए कार्पोरेट टैक्स का रेट घटेगाटैक्स में कोई नया फायदा नहींइनकम टैक्स का स्लैब पुराना वाला ही रहेगारोड और रेल के लिए टैक्स फ्री बॉन्डपीएम कृषि सिंचाई योजना में 3 हजार करोड़ और देंगेज्यादा टैक्स मिलेगा तो मनरेगा को 5 हजार करोड़ और देंगेअल्पसंख्यकों के लिए नई मंजिल योजना5 नई अल्ट्रा मेगा बिजली परियोजना का प्रस्तावई बिज पोर्टल की शुरुआत, परमिशन के लिए भटकना नहीं पड़ेगादो लाख का दुर्घटना बीमा देगी सरकारअटल पेंशन योजना का ऐलानप्रधानमंत्री बीमा योजना शुरु करेंगेअटल पेंशन योजना: एक हजार सरकार देगी, एक हजार लोग देंगेबिना दावे के EPF और PPF के पैसे से गरीबों के लिए योजनागरीबी रेखा से नीचे के बुजुर्गों के लिए पीएम बीमा योजनामुद्रा के लिए 20 हजार करोड़ की निधिसब्सिडी लीक को कम करेंगेअगले साल सातवां वेतन आयोगछोटे उद्योगों के लिए मुद्रा बैंकमनरेगा के लिए 34699 करोड़ग्रामीण विकास फंड के लिए 25 हजार करोड़मुझे उम्मीद है कि अमीर लोग गैर सब्सिडी छोड़ेंगेजरूरतमंदों के खाते में सब्सिडी सीधे पहुंच रही हैसब्सिडी जरूरतमंदों तक पहुंचाने पर जोरमहंगाई दर 5.1 फीसदी है: जेटलीवित्तीय घाटा 3 प्रतिशत से कम करेंगे: जेटलीइंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश की कमी: जेटलीकृषि में पैदावार बढ़ानी है: जेटलीसरकारी घाटे को काबू में करना है: जेटली20 हजार गांवों तक बिजली पहुंचाएंगे2022 तक बेरोजगारी को खत्म कर देंगे2022 तक सभी के लिए घर का लक्ष्य: जेटलीहमने महंगाई पर काबू किया है: जेटलीजनधन आधार मोबाइल का इस्तेमाल करेंगेसब्सिडी के लिए JAM का इस्तेमालदुनिया में मंदी का माहौल है: जेटलीलोगों की जिंदगी बेहतर करना है लक्ष्य: जेटलीराज्य बराबर के भागीदार होंगे: जेटलीजेटली ने पुरानी सरकार पर निशाना साधालोकसभा की कार्रवाई शुरुकैबिनेट की बैठक में बजट को मिली मंजूरी
शादी क्या है? जरूरत, मजबूरी या खुशहाली का एक जरिया? इस हफ्ते रिलीज हुई बॉलीवुड फिल्म ‘दम लगा के हईशा’ की कहानी इन्हीं बातों की ओर ध्यान खींचती है।  07:56 PM
जब किसी फिल्म का सीक्वल बनता है तो एक सवाल सहज ही मन में उठता है कि सीक्वल क्यों? एक तो बड़ा साधारण-सा उत्तर है- किसी हिट फिल्म की साख को भुनाने के लिए बनते हैं सीक्वल, जैसे ‘दबंग’ ‘कृष’, ‘धूम’ आदि।  07:52 PM
देखिए, मैं फिल्में देखते हुए ही बड़ा हुआ हूं। उस वक्त मनोरंजन का एकमात्र साधन फिल्में हुआ करती थीं। टीवी पर हम हर भाषा की फिल्में देखते थे।  07:50 PM
टेली टॉक
‘गंगा’ आम धारावाहिक नहीं : हितेन तेजवानी‘गंगा’ आम धारावाहिक नहीं : हितेन तेजवानी
छोटे पर्दे के जाने-माने अभिनेता हितेन तेजवानी का अगला धारावाहिक ‘गंगा’ है। वह कहते हैं कि यह धारावाहिक सामाजिक बुराइयों पर चोट करने वाले अन्य धारावाहिकों से हटकर होगा।
 
‘इतना करो ना मुझे प्यार’ में साक्षी?‘इतना करो ना मुझे प्यार’ में साक्षी?
सुनने में आया है कि टेलीविजन अभिनेत्री साक्षी तंवर से ‘इतना करो ना मुझे प्यार’ धारावाहिक में अभिनय करने के लिए बात चल रही है।
 
रू-ब-रू
फिल्मों से जुड़ने के बारे में बचपन में ही सोच लिया थाफिल्मों से जुड़ने के बारे में बचपन में ही सोच लिया था
देखिए, मैं फिल्में देखते हुए ही बड़ा हुआ हूं। उस वक्त मनोरंजन का एकमात्र साधन फिल्में हुआ करती थीं। टीवी पर हम हर भाषा की फिल्में देखते थे।
 
‘दम लगाके हइशा’ एक अनोखी फिल्म : आयुष्मान‘दम लगाके हइशा’ एक अनोखी फिल्म : आयुष्मान
अभिनेता-गायक आयुष्मान खुराना का कहना है कि उनकी आने वाली रोमांटिक-हास्य फिल्म ‘दम लगाके हइशा’ एक अलग जायका देती है।
 
गॉसिप
हॉलीवुड अभिनेत्री मोनिका बेलूची अपने आप को बॉन्ड गर्ल नहीं बॉन्ड लेडी कहलाना पसंद करती हैं। मोनिका बेलूची फिल्म 'स्पेक्टर' में जेम्स बॉन्ड की नई प्रेमिका की भूमिका निभाने जा रहीं हैं।
 
बॉलीवुड हस्तियों ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) की ऐतिहासिक जीत पर उसे बधाई दी है और उम्मीद जताई है कि वे जनता की उम्मीदों पर खरे उतरेंगे।
 
रिलीज हुई अब तक छप्पन-2 अब तक छप्पन-2 निर्देशक एजाज़ गुलाब की एक क्राइम पर आधारित फिल्म है। राजू चड्ढा और गोपाल दलवी फिल्म के निर्माता हैं। अब तक छप्पन-2 निर्देशक एजाज़ गुलाब की एक क्राइम पर आधारित फिल्म है। राजू चड्ढा और गोपाल दलवी फिल्म के निर्माता हैं। अन्य फोटो
रिव्यू
मूवी मैजिक
हर सवाल का जवाब है रणबीर के पासहर सवाल का जवाब है रणबीर के पास
अपनी बात बिना किसी लाग-लपेट के कह देना रणबीर कपूर की खासियत है। साथ ही वह यह भी कोशिश करते हैं कि अलग-अलग तरह की भूमिकाएं निभाएं। कभी वह ‘बर्फी’ में गूंगे का चरित्र निभाते हैं तो कभी ‘बेशरम’ में टपोरी जैसा चरित्र निभाते हैं।
 
‘रॉय’ में है अभिनय का जलवा‘रॉय’ में है अभिनय का जलवा
‘रॉय’ एक ऐसी फिल्म है, जिससे बॉलीवुड में एक नये तरह की शैली का आगाज हो रहा है। यह लव स्टोरी को एक नई तरह से पेश करती है कि वास्तव में लव स्टोरी होती क्या है।
 
ImageLoading
टीवी शो के लॉन्च पर शाहरुख
ImageLoading
इवेंट में सोनम
ImageLoading
इवेंट में जया-अमिताभ
ImageLoading
फिल्म का प्रमोशन करते नाना
लतीफ़े
Image Loading

मां बेटे से-बेटा सेब खालो
बेटा बोलता है- ना
मां फिर बोलती है- बेटा, केला खालो
बेटा बोलता है- नहीं
मां (गुस्से में) - तू , अपने बाप पर गया है, चप्पल ही खायेगा।

 
सर्वाधिक पढ़ी
गई ख़बरें
सर्वाधिक पसंद
की गई ख़बरें
सर्वाधिक पसंद
की गई तस्वीरे
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें
आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूप
सूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 07:08 AM
 : 05:28 PM
 : 94 %
अधिकतम
तापमान
21°
.
|
न्यूनतम
तापमान