रविवार, 26 अप्रैल, 2015 | 10:04 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
संपादकीय
विश्व प्रसन्नता सूचकांक में भारत की काफी नीची जगह शायद देश के लोगों की उम्मीदों और उपलब्धियों के बीच बड़े फर्क की वजह से है।
 
विदेशी अखबारों से
इसी हफ्ते चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अपनी सरकार के सबसे ताकतवर हथियारों में से एक का प्रदर्शन पाकिस्तान में किया। वह है धन और इससे जुड़ा बहुत कुछ।
 
आप की राय
देश में किसान मर रहे हैं और विभिन्न पार्टियां अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने में लगी हैं। दिल्ली की घटना यह बयान करती है कि किसानों की चिंता किसी को नहीं है।
 
आरक्षण से भारतीय राजनीति का कितना कल्याण हुआ और कितना नुकसान, इसके भयावह आंकड़े किसी दिन देश को चौंकाएंगे। आज लोग जाति के नाम पर अपना परिचय देने में अधिक गर्व का अनुभव करते हैं।
 
रू-ब-रू
भैंस चराने में बहुत मन लगता था मेरा, क्योंकि भैंसें चरती थीं गांव की दूसरी भैंसों के साथ और इस दौरान हम बच्चे बगीचे में तरह-तरह के खेल खेलते थे।
 
मैंने शायरी शुरू की, तब कलकत्ते में मुशायरा शायरी का जरिया नहीं था। मुशायरा शायरी के प्रचार का सबसे घटिया जरिया है, यह मैं ही नहीं मानता, बल्कि फिराक गोरखपुरी जैसे शायर भी मानते थे।
 
नेपाल में जबर्दस्त भूकंप, भारत को भी झकझोर गया प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, भूकंप के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिक्किम के मुख्यमंत्री श्री पवन चामलिंग और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात की। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, भूकंप के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिक्किम के मुख्यमंत्री श्री पवन चामलिंग और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात की। अन्य फोटो
कॉलम
हम इतने असंवेदनशील क्यों हो गए हैं? एक शख्स खुद को मौत की तरफ धकेल रहा था और सैकड़ों लोग तमाशबीन बने रहे।
 
छायावाद ने कुछ और दिया हो या न दिया हो, हिंदी को एक सुपर ब्रांड शब्द जरूर दिया है- ‘वेदना।’ वेदना ही छायावाद की पहचान थी। वेदना ही उसकी जान थी। वेदना ही उसकी तान थी। वेदना ही उसकी शान थी।
 
जीने की राह
कुछ बनना है तो डटे रहो
हरियाणा के फरीदाबाद शहर में जन्मे सोनू निगम ने होश संभाला, तो चारों तरफ संगीत का माहौल था। पापा स्टेज सिंगर थे। वह शादियों और पार्टियों में गाया करते थे।
 
बड़ी कामयाबी के लिए बड़ा त्याग
सानिया को बचपन में तैराकी का शौक था। पढ़ाई में उसका खूब मन लगता था। हमउम्र बच्चों के संग खेलने की बजाय उसे अपने कमरे में चुपचाप बैठकर किताबें पढ़ना ज्यादा पसंद था। बड़ी होकर डॉक्टर बनने की ख्वाहिश थी।
 
सर्वाधिक पढ़ी
गई ख़बरें
सर्वाधिक पसंद
की गई ख़बरें
सर्वाधिक पसंद
की गई तस्वीरे
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें
आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूप
सूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 07:08 AM
 : 05:28 PM
 : 94 %
अधिकतम
तापमान
21°
.
|
न्यूनतम
तापमान