class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार: इंजीनियरिंग कॉलेजों में एक प्रवेश परीक्षा के आधार पर होगा दाखिला

exam

राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए छात्रों को इसबार सिर्फ एक परीक्षा देनी होगी। यानी इस बार प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा से छात्रों को नहीं गुजरना होगा।  बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद (बीसीईसीई)ने यह निर्णय लिया है। प्रवेश परीक्षा में देरी हो जाने के कारण अब दो परीक्षा ले पाना संभव नहीं है। इसीलिए इस साल एक प्रवेश परीक्षा (पीटी) के आधार पर ही छात्रों की मेधा सूची जारी की जाएगी। 

बीसीईसीई ने निर्णय लिया है कि 18 जून को प्रवेश परीक्षा ली जाएगी। इसी के आधार पर राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेजों सहित अन्य कोर्सों में दाखिला होगा। परीक्षा में शामिल होने के लिए 60 हजार से अधिक परीक्षार्थियों ने आवेदन किया है। बीसीईसीई के ओएसडी अनील कुमार ने बताया कि एआईसीटीई के अनुसार 30 जुलाई तक दाखिले की प्रक्रिया पूरी कर लेनी है। इस वजह से ऐसा निर्णय सर्वसम्मति से लिया गया है। ताकि राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेजों में समय से छात्रों का दाखिला हो सके। नियमों का पालन भी किया जा सके। 

27 मई तक सुधार का मौका
बीसीईसीई की ओर से वैसे अभ्यर्थी जिनका आवेदन में त्रुटि है। इसमें सुधार के लिए 27 मई तक मौका भी दिया है। इन्हें बीसीईसीई कार्यालय ही बुलाया गया है। इसकी सूची वेबसाइट पर उपलब्ध करा दी गयी है। 

आईटीआई की प्रवेश परीक्षा 11 को
आईटीआई के लिए प्रवेश परीक्षा 11 जून को होगी। साथ ही डीसीईसीई के आधार पर होने वाली पारा मेडिकल और पारा डेंटल की परीक्षा 24 व 25 जून को होगी। इसी तरह से पॉलिटेक्निक की परीक्षा 25 जून को होगी। परीक्षाओं से संबंधित तमाम जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध करा दी गई है। इन परीक्षाओं में एक लाख से अधिक छात्र शामिल होंगे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bihar: Engineering colleges will be enrolled on an entrance test basis
उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग 137 पदों पर करेगा नियुक्तियां टीईटी की तिथि बढ़ी, 29 जून को होगी परीक्षा