Live Hindustan
  • इधर अफवाह जैसी चर्चित खबर यह है कि जनता में काफी सारा परिवर्तन आ गया है। स्वच्छता अभियान के अंतर्गत सबसे पहले गांधीजी का चश्मा साफ किया जा रहा है, ताकि दो अक्तूबर को प्रिय बापू साफ-सुथरा भारत...

    22 सितम्बर, 2017 11:30 PM Nashtar Column Urmil Kumar Thapliyal Hindustan
  • नवरात्र आ गए। पूरे विधि-विधान के साथ घर-घर घट स्थापित हुए। अखबारी विज्ञापनों में ऑनलाइन मेगासेल की मुनादी हुई। वैसे तो आने वाले समय में व्रत रहेंगे, ऐसे तो भोग लगाने के लिए बाजार में आस्था के...

    21 सितम्बर, 2017 11:12 PM Nashtar Column Nirmal Gupt
  • सरकार के संदर्भ में ‘गोलपोस्ट शिफ्ट करना’ मुहावरा हमने नोटबंदी के वक्त खूब इस्तेमाल होते देखा। नोटबंदी के आलोचकों का आरोप था कि सरकार नोटबंदी के उद्देश्य बार-बार अलग बताती रही। पहले...

    20 सितम्बर, 2017 10:19 PM Nashtar Rajendra Dhodpakar Hindustan
  • बीस साल की बालिका अपनी 75 वर्षीया दादी को अगर यह बताए कि एप्पल का नया फोन एक लाख, आठ हजार का है, तो यह जवाब मिलने की पूरी संभावना है- इतने में हमारी ऐसी शादी हुई थी कि पूरे शहर में कई साल तक उसकी...

    19 सितम्बर, 2017 10:24 PM Nashtar Aalok Puranik Apple अन्य...
  • किम जोंग-उन इन दिनों चर्चा का विषय है। उसके कारनामों से पूरी दुनिया स्तब्ध है। परमाणु परीक्षण उसके लिए नित्य कर्म जैसा है। बैलिस्टिक मिसाइलों को वह छक्के जैसे उड़ाता रहता है। हाइड्रोजन बम...

    18 सितम्बर, 2017 10:40 PM Surya Kumar Pandey Nashtar Kim Jong Un अन्य...
  • हमें लगने लगा है कि भारत दुनिया का सर्वाधिक सिद्धांतप्रिय देश है। जिसे सुनिए, वह सिद्धांत का सिद्ध, कोई न कोई उसूल उगलता नजर आता है। जैसे उसूल न हुआ, पान की पीक हो गया। सिद्धांत का सच मुंह में...

    17 सितम्बर, 2017 10:17 PM Nashtar Gopal Chaturvedi
  • हे मान्यवर छुटभैये। चमचा तो चाटुकारिता का पर्यायवाची शब्द है। तू तनाव में क्यों है? तुझे तो कभी अच्छे दिनों की प्रतीक्षा नहीं करनी। तेरे बुजुर्ग तो डांट-डांटकर कुत्तों की दुम सीधी करते थे।...

    15 सितम्बर, 2017 10:21 PM Nashtar Urmil Kumar Thapaliyal Don't Listen To Anyone
  • पितृपक्ष समापन के करीब है। अब हम अपने पूर्वजों के प्रति हलवा-पूड़ी वाले आदर भाव को अगले एक साल के लिए खूंटी पर टांग सकते हैं। इस बार हमारी श्रद्धा को सप्रेम उदरस्थ करने वाले न प्रचुर संख्या में...

    14 सितम्बर, 2017 11:30 PM Nashtar Column Pitrapaksha Hindi Pakhwada अन्य...
  • हिंदी दिवस के बारे में यह नहीं कहा जा सकता कि हिंदी और हिंदी दिवस का अन्योन्याश्रित संबंध है, क्योंकि इन दोनों का संबंध कुछ वैसा ही है, जैसा राष्ट्रवाद व राष्ट्र का। सच है कि राष्ट्रवाद,...

    13 सितम्बर, 2017 10:25 PM Rajendra Dhodpakar Hindi Divas
  • अमा जाने दो, मतलब हद होती है, अब क्या मैं इन्सां भी नहीं? और इन्सां तो दूर, नाम के आगे इन्सां लिख तक नहीं सकता? मुस्कराइए नहीं, मामला गंभीर है। बचपन से बड़ों ने सिखाया कि बेटा इन्सां बनो। था तो...

    12 सितम्बर, 2017 10:44 PM Nashtar Naval Kant Sinha
  • जिला भाषा अधिकारी को यह महत्वपूर्ण कार्य सौंपा गया कि वह शहर में नवनिर्मित ‘वर्किंग वूमेन होस्टल’ के सामने लगने वाले नामपट्ट को हिंदी में लिखवाएं। भाषा अधिकारी संस्कृत भाषा के भी ज्ञाता...

    11 सितम्बर, 2017 11:31 PM Nashtar Hindi Language Hindustan
  • जैसे जन्म के साथ मृत्यु की अनिवार्यता है, वैसे ही वर्षा हो तो बाढ़ की, न हो तो सूखे की। देश के विकास से इसका कोई ताल्लुक नहीं। भारत एक नियति प्रधान देश है। सरकार करती कुछ है और हो कुछ और जाता है। एक...

    10 सितम्बर, 2017 10:38 PM Nashtar Gopal Chaturvedi Rain
  • बाबा जी की खास बात यह थी कि जघन्य पाप करने के तुरंत बाद वह मंदिर में अखंड पाठ करवाते। वह अक्सर गीले बताशे बांटते। भक्तजन उस गीलेपन को पुण्य की पंजीरी की तरह चाटते। पाप करते ही बाबा इलाहाबाद...

    8 सितम्बर, 2017 10:24 PM Nashtar Param Pad Hindustan अन्य...
  • मुंह अंधेरे ‘धप्प’ की आवाज आई। खबरीला पुलिंदा नमूदार हुआ। इसे रोजमर्रा की भाषा में अखबार कहते हैं। वैसे तो दिन-रात टीवी पर ब्रेकिंग न्यूज लगातार चलती हैं, जिसके बारे में कवि ने निराले...

    7 सितम्बर, 2017 10:48 PM Hindustan Nashtar Column Tv Newspaper अन्य...
  • समय विज्ञापनी स्पद्र्धा का है। हर कोई कहता है, बाकी के सभी मिलावटी हैं, मेरा उत्पाद ही खांटी खरा है। पानी बेचने वाली कंपनियां कहती हैं, उसके वाले पानी से मेरा पानी स्वच्छ है। मसाला बेचने वाले...

    5 सितम्बर, 2017 10:27 PM Nashtar Suryakumar Pandey
  • 1
  • of
  • 21

फूफा जी: बेटा इंटर के बाद आगे क्या करोगे..

फूफा जी: बेटा इंटर के बाद आगे क्या करोगे..

भतीजा: बीटेक के लिए फॉर्म डाल रहे हैं, देखो क्या होता है..

फूफा जी: अगर रैंक अच्छी नहीं आई तो..

भतीजा: तो फिर कहीं से सिंपल ग्रेजुएशन कर लेंगे..

फूफा जी: अच्छा मान लो इंटर में बाई चांस लटक गए तो..?

भतीजा: तो फिर एक मर्डर करेंगे, एक रिश्तेदार का.. हमारी कुण्डली में लिखा है..