Live Hindustan
  • हमारे बचपन का एक जीवनदाता, जिसे हमने बढ़ते बचपन में औजार बना लिया और इसी के सहयोग से खुराफात भी करते रहे। इसका नाम है सितुही। इसे पत्थर पर रगड़कर इसकी पेंदी में छेद बनाते। चोरी का आम, खीरा इसी से...

    20 नबम्बर, 2017 12:36 AM Cyber Sansar Do You Know Situhi From The Chanchal Facebook Wall
  • मुझे आज भी याद है, जब 1975 में इंदिरा गांधी की बंगबंधु के साथ जमैका में मुलाकात हुई थी। उन्होंने शेख मुजीब की सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की। उन्हें खुफिया एजेंसियों से इसकी जानकारी मिली थी कि...

    17 नबम्बर, 2017 10:13 PM Cyber Sansar Hindustan Sheikh Mujib अन्य...
  • छोटे बच्चों से आम तौर पर एक सवाल पूछा जाता है, ‘बेटे, बड़े होकर क्या बनोगे?’ बच्चों के जवाब अलग-अलग होते हैं- डॉक्टर, इंजीनियर, अफसर, सैनिक, एक्टर, क्रिकेटर, सुपरमैन। उनकी महत्वाकांक्षाएं...

    16 नबम्बर, 2017 10:20 PM Cyber Sansar Column Dhruv Grupt Hindustan Hindi
  • छह दिन पहले ही कुंवर जी को देखकर आया था। इन दिनों कुंवर जी से मिलना नहीं होता, केवल टकटकी लगाकर देखना ही संभव हो पाता है। दो-तीन घंटे में कई बार एकटक देखना कई समयों में देखना कहा जा सकता है। वह...

    15 नबम्बर, 2017 11:19 PM Cyber Sansar Column Hindustan
  • नेहरू को याद करना इसलिए जरूरी है कि अंतत: जिस भारत में इतने सारे सवाल खड़े करने और दूसरों को लांछित करने की भी आजादी मिली, वह नेहरू का ही गढ़ा हुआ है। अपने जीवन काल में भी नेहरू लगातार वैचारिक...

    14 नबम्बर, 2017 10:47 PM True Watchman Of Democracy Priyadarshan In Navjivan Cyber Sansar
  • सरदार पटेल के दो बच्चे थे। मणिबहन (बेन) बेटी थीं और डाह्याभाई बेटे। पटेल की मृत्यु के बाद जवाहरलाल नेहरू ने उनके दोनों ही बच्चों को संसद में भेजा। मणिबहन दक्षिण कैरा लोकसभा सीट से 1952 में और फिर...

    14 नबम्बर, 2017 1:15 AM Balasa Narayan Singh On His Facebook Wall Cyber Sansar The Children Of Nehru And Patel
  • दिल्ली में विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन से बाहर निकलते ही रिक्शा और ई-रिक्शा का एक जंगल आपका स्वागत करता है। रिक्शे वाले चिल्लाते हैं। सवारियों को लगभग खींच-खींचकर अपने रिक्शे में बैठाते...

    12 नबम्बर, 2017 11:20 PM South India From The Facebook Wall Of Asghar Wajahat Cyber World
  • लिखना वैसा ही है, जैसे किसी बच्चे का बोलना। बच्चे को क्या पता कि वह जो बोल रहा है, वह एक भाषा है, जिसमें शब्द होते हैं और उन शब्दों के अर्थ भी? उसे क्या पता कि जो वह बोल रहा है, वह सुंदर है या असुंदर,...

    10 नबम्बर, 2017 11:22 PM Author And Child Cyber Sansar Column
  • कुछ लोगों का ख्याल है कि सोवियत संघ के पतन के साथ अक्तूबर क्रांति की प्रासंगिकता खत्म हो गई। सवाल लेकिन यह है कि इस क्रांति ने 20वीं सदी को जिस विराट बहस में खींचा था, क्या वह बहस खत्म हो गई? क्या...

    9 नबम्बर, 2017 11:17 PM Ashutosh Kumar Relevance Of Revolution Cyber World
  • भारत के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्र ने एक बेहद स्वागतयोग्य पहल करके लाखों विचाराधीन कैदियों के अंधेरे जीवन में आशा की एक किरण लाने का काम किया है और यदि यह प्रक्रिया लगातार जारी रही, तो भारत...

    9 नबम्बर, 2017 12:34 AM Cyber Sansar Commendable Initiative Kuldeep Kumar
  • वाशिंगटन में रहना कई वजहों से सुखद है। यहां सार्वजनिक परिवहन की अच्छी व्यवस्था है, हरे-भरे पार्क हैं, मददगार पड़ोसी हैं और इन सबसे बढ़कर हवा की गुणवत्ता काफी बेहतर है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के...

    7 नबम्बर, 2017 11:51 PM Cyber Sansar For Clear Climax Meg Walker In The World Bank Blog
  • हमारे समय और समाज में बुद्धिजीवियों की क्या भूमिका है, इसे लेकर खासे मत-मतांतर हैं। एक छोर पर ऐसे भक्तगण हैं, जो सारे बुद्धिजीवियों को वामपंथी मानकर उनकी भूमिका मानने से इनकार करते हैं। दूसरे...

    7 नबम्बर, 2017 12:03 AM Cyber Sansar Role Of Intellectuals Ashok Vajpayee In Satyagrah
  • ‘आपको कैंसर है।’ यह बात बताने की रस्म दुनिया में अलग-अलग है। नॉर्वे में नियम है कि जिस चिकित्सक को सबसे पहले यह बात पता लगे, वह सीधा मरीज को बंद कमरे में बता दे, अगर वह 16 वर्ष से ऊपर का हो।...

    6 नबम्बर, 2017 1:22 AM Diseases And Patients Cyber Sansar From Praveen Jha Facebook Wall
  • यात्राएं खत्म हो जाती हैं, पर शहर साथ चलता है। वह कभी स्मृतियों में समूचे आकार के साथ दर्ज होता चलता है, तो कभी एक बिंदु पर सिमटकर शांत हो जाता है, मगर मिटता नहीं। आंखों से दूर भले हो जाए, पर आंखें...

    3 नबम्बर, 2017 8:45 PM Cyber Sansar Column Memories Of Allahabad
  • सियासत और मजहब को आमने-सामने करके देखें, तो अजब सी जुगलबंदी नजर आती है। सियासत दंगे कराती है, तो मजहब भी। इसके उलट अगर मजहब और सियासत के असली मायने दिल तक पहुंचें, तो एक रूहानी खुशबुओं का सबब बन...

    2 नबम्बर, 2017 9:56 PM Cyber Sansar Column Hindustan Hindi Saundarya Naseem
  • 1
  • of
  • 25

टीचर - बहुबचन किसे कहते हैं..

टीचर - बहुबचन किसे कहते हैं..

छात्र- जब कोई बहू ससुरालवालों को खरी-खोटी सुनाती है तो उसे बहुबचन कहते हैं..

टीचर अभी भी पूछ रहा हूं कि दूसरा सवाल क्या पूछूं..