class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ का प्रकोप:कटिहार-सिलीगुड़ी रेल मार्ग बंद, पूर्वोत्तर से शेष भारत का संपर्क टूटा

Bihar Floods

उत्तर बिहार और बंगाल में बाढ़ के कारण किशनगंज-सिलीगुड़ी-रेल मार्ग ठप हो गया है। इसके साथ ही पूर्वोत्तर के आठ राज्यों को शेष भारत से रेल संपर्क टूट गया है। कटिहार से सिलिगुड़ी के मध्य रेल ट्रैक पर कई जगह पानी आ जाने की वजह से 18 से ज्यादा रेलगाड़ियों को रविवार को रद्द करना पड़ा है। पूर्व मध्य रेलवे के सीपीआरओ राजेश कुमार ने कहा कि पूर्वोत्तर से शेष भारत की रेल सेवा बाढ़ के कारण ठप हो गई है।

नई दिल्ली-ढिब्रुगढ़ राजधानी एक्सप्रेस (12424) कटिहार और ब्रह्मपुत्र मेल को बारसोई में रोका गया है। वहीं कई ट्रेनों को रास्ते से ही वापस किया जा रहा है। रविवार को कटिहार मंडल के अपर मंडल रेल प्रबंधक डीएल मीणा ने बताया कि कटिहार जोगबनी रेल रूट के विभिन्न स्टेशनों पर पानी आ जाने से तत्काल परिचालन रद्द है। शनिवार की देर रात  कटिहार सिलीगुड़ी रूट के पॉजीपाड़ा और हटवार स्टेशन के मध्य अप, डाउन दोनों लाइन पर पानी चढ़ गया है। इसकी वजह  से उत्तरबंग, कंचनकन्या, पदातिक, कामरुप एक्सप्रेस जैसी लंबी दूरी की ट्रेनें रविवार को रद्द हो गईं। वहीं कटिहार से  राधिकापुर, मालदा, सिलीगुड़ी के बीच चलने वाली छह सवारी ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। 

बारिश का कहर:बिहार में बाढ़ की स्थिति, नीतीश ने केंद्र से मांगी मदद

ये ट्रेनें रद्द हुईं ( रविवार को ) 
- ढिब्रुगढ़ नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस 
- ढिब्रुगढ़ नई दिल्ली - ब्रह्मपुत्र मेल 
- गुवाहाटी आनंदविहार नार्थ इस्ट एक्सप्रेस 
- अवध आसाम एक्सप्रेस 
- कामाख्या कटरा एक्सप्रेस 
- गुवाहाटी पुरी एक्सप्रेस 
- कंचनजंगा एक्सप्रेस 
- दार्जिलिंग मेल 
- अलीपुर दुआर दिल्ली महानंदा एक्सप्रेस 
- सियालदह उत्तरबंग एक्सप्रेस
- हावड़ा सरायघाट एक्सप्रेस 
- अलीपुर दुआर सियालदह- कंचन कन्या एक्सप्रेस 
- तिस्ता तोरसा एक्सप्रेस 
- पदातिक एक्सप्रेस 

ये ट्रेनें रद्द (सोमवार को )
- ढिब्रुगढ़ चंडीगढ़ एक्सप्रेस 
- गुवाहाटी ओखा एक्सप्रेस 

ब्रह्मपुत्र मेल मुगलसराय में निरस्त की गई 
मुगलसराय। पूर्वोत्तर बाढ़ के कारण ब्रह्मपुत्र मेल को मुगलसराय में ही निरस्त कर दिया गया। ट्रेन के मुगलसराय पहुंचते ही अधिकांश यात्रियों को पटना और फरक्का जाने वाली ट्रेनों में सवार कराकर आगे के लिए रवाना कर दिया गया। इसके लिए पुलिस के जवानों को यात्रियों को समझाने में काफी पसीना बहाना पड़ा। बाढ़ के मद्देनजर रेल प्रशासन कानपुर से लेकर बरौनी तक दर्जनों ट्रेनों को स्टेशन पर खड़ा कर दिया है। 

गोरखपुर बेतिया रेलखंड भी ठप
मुजफ्फरपुर। बगहा-नरकटियागंज रेलखंड के खरपोखरा के समीप पुलिया धंसने और नरकटियागंज जंक्शन के रेलवे ट्रैक पर पानी भर जाने से गोरखपुर-बेतिया रेलखंड पर यातायात ठप हो गया है। सप्तक्रांति, अवध और सत्याग्रह सहित कई रेलगाड़ियों को रूट डायवर्ट कर मुजफ्फरपुर, छपरा के रास्ते चलाया गया।  वहीं नरकटियगंज झंझारपुर मार्ग पर भी रेल यातायात पूरी तरह ठप है। 

उत्तर बिहार की 35 लाख आबादी बाढ़ के चपेट में
बीते 24 घंटे से उत्तर बिहार में हो रही तेज बारिश व नेपाल से छोड़े गए पानी के कारण बाढ़ की स्थिति भयावह हो गई है। बेतिया, मधुबनी, दरभंगा व सीतामढ़ी की दर्जनों पंचायतों का संपर्क जिला मुख्यालय से कट गया है। कमला-बलान नदी में जारी उफान से घनश्यामपुर के कई गांव की हालत नाजुक बताई जा रही है। उत्तर बिहार के 40 प्रखंडों की लगभग 35 लाख की आबादी बाढ़ से घिरी हुई है।

पश्चिम चम्पारण के बगहा, गौनाहा, नरकटियागंज, मैनाटांड़ व सिकटा प्रखंडों में बाढ़ से स्थिति गंभीर बनी हुई है। लगातार बारिश से उफनाई गंडक में वाल्मीकिनगर गंडक बराज से रविवार को 3.80 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से स्थिति और विकराल हो गई है। बगहा के दियारा व वाल्मीकिनगर टाइगर रिजर्व में गंडक का पानी घुस गया है। गौनाहा के भितिहरवा व नरकटियागंज के भसुरारी कस्तूरबा बालिका विद्यालय की 162 छात्राएं बाढ़ के पानी में फंस गईं। 

मधुबनी में कोसी, कमला व गहुमां नदी की बाढ़ से चार दर्जन गांव टापू बन गए हैं। झंझारपुर में कमला बलान नदी खतरे के निशान से उपर बह रही है। कमला का पानी झंझारपुर रेल सह सड़क पुल को छुकर बह रहा है। वहीं कोसी व गेहूमां के उफान से कई जगह पुल-पुलिया ध्वस्त हो गई है। इससे कई गांवों का संपर्क भंग हो गया है। 

बिहार में अगले 24 घंटे में भारी बारिश के आसार
भागलपुर। कोसी और सीमांचल सहित दक्षिण पूर्व बिहार के 12 जिलों में अगले 24 घंटे तक भारी बारिश के आसार हैं। पटना स्थित मौसम केंद्र के वैज्ञानिक राजेश कुमार ने बताया कि नेपाल से सटे तराई क्षेत्रों में भारी बारिश का दबाव बना हुआ है। दूसरी तरफ सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, सहरसा और मधेपुरा इलाके में  जमीन के ऊपर 5.8 किमी तक चक्रवातीय दबाव बना हुआ है। इस कारण अगले 24 घंटे में इन क्षेत्रों में 65 एमएम से अधिक बारिश की संभावना बनी हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rain Havoc in Bihar and Assam caused Floods Railway Connectivity disrupted North East cut from Rest of India
बिहार बाढ़: 35 लाख आबादी चपेट में, पीएम बोले- देंगे हर संभव मददबारिश का कहर:बिहार में बाढ़ की स्थिति, नीतीश ने केंद्र से मांगी मदद