class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VIDEO: अहमदाबाद ब्लास्ट का आरोपी नाम बदल कर स्कूलों में पढ़ा रहा था साइंस और मैथ्स

तौसीफ खां ने सिर्फ अपना नाम नहीं बदला, बल्कि पहचान छुपाने को उसने पढ़ाई का सहारा भी ले रखा था। निजी स्कूल में गणित-विज्ञान का टीचर बना तौसीफ गया के करमौनी गांव में लोगों के बीच अतीक के नाम से जाना जाता था। अहमदाबाद ब्लास्ट के बाद से सुरक्षा एजेंसियां इसकी तलाश में थीं।

एडीजी मुख्यालय एसके सिंघल ने बताया कि तौसीफ अहमदाबाद में 2008 में हुए बम ब्लास्ट के बाद से छुपकर गया में रह रहा था। उसके जानने वाले सना खां ने मुमताज पब्लिक हाई स्कूल में उसे शिक्षक की नौकरी दिलाई। तीन साल तक वहां शिक्षक रहा। इसके बाद ट्यूशन पढ़ाने लगा। तौसीफ ने अपना नाम बदल कर अतीक रख लिया था। उसके साथ सना खां और निजी स्कूल के संचालक सरवर सलाही को भी गिरफ्तार किया गया है।

गुजरात एटीएस लेगी रिमांड पर-

 गुजरात एटीएस की टीम तौसीफ उर्फ अतीक को रिमांड पर लेने बिहार आ रही है। अहमदाबाद ब्लास्ट केस में उसे ट्रांजिट रिमांड पर गुजरात ले जाया जाएगा। अधिकारियों के मुताबिक रिमांड के दौरान उसे उन जगहों पर ले जाया जाएगा जहां वह फरारी के दौरान गया था।

महाराष्ट्र से की है इंजीनियरिंग-

एडीजी मुख्यालय के मुताबिक तौसीफ खां उर्फ अतीक ने इलेक्ट्रॉनिक्स एवं कम्यूनिकेशन से इंजीनियरिंग की पढ़ाई भी की है। महाराष्ट्र के नंदूरबाग स्थित डीएन पाटिल इंजीनियरिंग कॉलेज से उसने वर्ष 2001-05 के बीच बी.टेक किया।

गया में तौसीफ से तीन एजेंसियों ने की पूछताछ
गया। गया शहर से बुधवार को गिरफ्तार किए गए अहमदाबाद ब्लास्ट के अभियुक्त मो. अतीक उर्फ तौसीफ से गुरुवार को दिनभर तीन जांच एजेंसियों ने पूछताछ की। इनमें बिहार एटीएस, गुजरात एटीएस और एनआईए की टीम शामिल बताई गई है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Accused of Ahmedabad blast was teaching mathematics in a school with name changed
कमाल: बिहार की इस डॉक्टर बेटी ने विदेश में मचाया धमाल, जानिए क्या है वजहबिहार के हर जिले में नियुक्त होंगे साइबर सिक्युरिटी ऑफिसर