class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दक्षिणी,पूर्वी पटना में दो सौ किमी में तार बदले जाएंगे

दक्षिणी-पूर्वी पटना में निर्बाध बिजली सप्लाई में लगातार बाधक बन रहे जर्जर तारों को बदला जाएगा। जर्जर तार वाले इलाकों की पहचान के लिए सर्वे करा लिया गया है। एक महीने में इसे बदलने का काम शुरू हो जाएगा। दरअसल कंकड़बाग, बांकीपुर, राजेन्द्रनगर, गुलजारबाग, पटना सिटी और कंकड़बाग -2 डिविजन के सैकड़ों मोहल्लों में लगभग पांच लाख की आबादी को आज भी जर्जर तारों के चलते बिजली की किल्लत झेलनी पड़ रही है। पेसू पूर्वी सर्किल के अधीक्षण अभियंता रंजीत कुमार ने बताया कि लगभग दो सौ किलोमीटर एलटी लाइन में तारों को बदलने की योजना है। इसके लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। एक महीने के भीतर पुराने जर्जर तारों को बदलने का काम शुरू कर दिया जाएगा। ताकि आने वाले दिनों में तार टूटने की घटनाएं कम हों और लोगों को पूरी बिजली दी जा सके। पूर्वी और दक्षिणी पटना के तमाम मोहल्लों कंकड़बाग, बांकीपुर, राजेन्द्रनगर, पटना सिटी, गुलजारबाग, बाईपास आदि एरिया में लगभग एक हजार किलोमीटर एलटी लाइन में तार बदला जा चुका है। एसई का दावा है कि इससे इस बार गर्मी में अपेक्षाकृत बिजली की किल्लत कम हुई है। इन इलाकों में तार टूटने की घटनाएं भी कम हुई हैं।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:two hundred kilometer wire will be changed in next month by pesu
मानसून के शुरूआती दौर में ही बारिश के लिए तरस रहा बिहारपांच जुलाई को रालोसपा में शामिल होंगे श्रीभगवान सिंह