class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुरंग की गिरफ्तारी के बाद दूसरे नक्सलियों के खात्मे की तैयारी

नक्सली सुरंग यादव के आत्मसमर्पण के बाद पूर्वी बिहार में सक्रिय दूसरे नक्सलियों के विरुद्ध अभियान की तैयारी शुरू हो चुकी है। एसटीएफ और अर्द्धसैनिक बलों ने करीब आधा दर्जन नक्सलियों को अपने निशाने पर ले रखा है। खुफिया तंत्र को भी सक्रिय कर दिया गया है। जल्द ही उनके खिलाफ बड़ा अभियान शुरू हो सकता है। भागने के दौरान सुरंग हुआ था जख्मी कई वर्षों से नक्सल गतिविधियों में शामिल सुरंग यादव ने पिछले दिनों जमुई में सरेंडर किया था। बताया जाता है कि कुछ माह पूर्व एसटीएफ के भेलवा घाटी में चलाए गए अभियान के दौरान भागने की कोशिश में वह ऊंचाई से गिरा था। इस घटना में उसे गंभीर चोटें आई थीं। इसके बाद से वह ज्यादा भाग-दौड़ करने की स्थिति में नहीं रहा। सुरंग के आत्मसमर्पण से पहले उसके बॉडीगार्ड ने भी न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया था। प्रवेश, सिद्धु, पिंटू व दारोगी का नम्बर सुरंग के बाद पूर्वी बिहार-पूर्वोंत्तर झारखंड स्पेशल एरिया कमेटी (पीबीबीजे सैक) के आधा दर्जन बड़े नक्सलियों के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया गया है। एसटीएफ, कोबारा और सीआरपीएफ के निशाने पर पीबीपीजे सैक का सचिव प्रवेज पहले नम्बर पर है। मूलत: झारखंड का रहनेवाला यह नक्सली पहाड़ से जल्दी नीचे नहीं उतरता। अर्जुन और बालेश्वर कोढ़ा हर वक्त इसके साथ रहते हैं। सुरक्षाबलों के निशाने पर सिद्धू कोढ़ा, अरविंद यादव, पिंटू राणा और दारोगी के अलावा महिला नक्सली करूणा कोढ़ा भी है। खुफिया सूचना इकट्ठा करने पर जोर बिहार एसटीएफ के साथ अर्द्धसैनिक बल इन नक्सलियों को निशाना बनाने के लिए बड़े पैमाने पर कार्रवाई में जुट गए हैं। अभियान के अलावा इन नक्सलियों के खिलाफ खुफिया जानकारी इकट्ठा करने पर जोर दिया जा रहा है। बरसात बाद इनके खिलाफ बड़ा अभियान शुरू हो सकता है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Preparation for the elimination of other Maoists after Surang arrest
स्टेट बार काउंसिल का चुनाव कब तक होगा : हाईकोर्टआरटीडी योजना से 204 युवाओं को मिला विदेशों में रोजगार