class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनटीपीसी बिजली की समान दर तय करे : नीतीश

एनटीपीसी बिजली की समान दर तय करे : नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हमारी केंद्र से मांग है कि एनटीपीसी देशभर में बिजली की समान दर तय करे। बिहार को अन्य राज्यों की अपेक्षा अधिक कीमत पर एनटीपीसी बिजली देती है। उन्होंने कहा कि जिस तरह रेलवे का किराया सभी राज्यों में एक तरह का है, उसी प्रकार एनटीपीसी एक दर घोषित करे। मुख्यमंत्री ने रविवार को ऊर्जा विभाग के 1462.36 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया। इसमें मोतिहारी और दरभंगा का 400-400 का ग्रिड भी शामिल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2005 में बिहार में 700 मेगावाट बिजली में आपूर्ति होती थी, जो आज बढ़कर 4200 मेगावाट तक पहुंच गयी है। सात हजार मेगावाट बिजली आपूर्ति की क्षमता आज बिहार के पास है। बिजली के संचरण और वितरण पर विशेष ध्यान दिया गया है। ताकि लोगों को गुणवत्तायुक्त बिजली मिले। वर्ष 2017 के अंत तक सभी बसावटों और 2018 तक सभी घरों तक बिजली पहुंचा दी जाएगी। ऊर्जा विभाग ने बिजली सुधार के हर पहलु पर निरंतर ध्यान दिया है। ऐसा तार लगाएं कि चोरी की गुंजाइश न रहे मुख्यमंत्री ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि जल्द सभी पुराने बिजली तारों को बदल दें। इसमें जो भी खर्च होगा, राज्य सरकार देगी। राज्य में 72 हजार किमी लंबी तारें हैं। इस तरह के तार लगाएं, जिसमें बिजली चोरी करने की गुंजाइश न हो। बिलिंग व्यवस्था को दुरुस्त करें। उन्होंने कहा कि आज गांव-गांव में लोग फ्रीज और टेलीविजन रखने लगे हैं। महिला कर्मियों को किया सम्मानित मुख्यमंत्री सचिवालय संवाद में हुए कार्यक्रम में उन्होंने करबिगहिया ग्रिड का संचालन करने वाली सभी महिला कर्मियों को सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तीकरण का ही यह एक हिस्सा है, जिसके तहत करबिगहिया ग्रिड के संचालन में सिर्फ महिला कर्मी लगी हैं। लालटेन खोजने से भी नहीं मिलेगा इस मौके पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार में बिजली में इतनी जल्दी सुधार आएगा, जिसकी कल्पना कई लोगों ने नहीं की थी। यही कारण था कि एक राजनीतिक दल ने अपना चुनाव चिह्न ही लालटेन रख दिया। आज जिस प्रकार राज्य में बिजली की व्यवस्था सुधरी है, उससे अब लालटेन खोजने से भी नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि अगले पांच सालों में राज्य के आठ लाख किसानों तक बिजली पहुंचाई जाएगी। एलईडी बल्ब आदि के प्रयोग से देश में 12 हजार करोड़ की बचत बिजली उपभोक्ताओं की हुई है। ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने कहा कि कुछ सालों पहले तक बिजली को लेकर बिहार का मजाक उड़ाया जाता था। आज बिहार देश में हर घर बिजली देने की योजना में मॉडल बना हुआ है। इस मौके पर जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NTPC should fix equal rate of power: Nitish
बाढ़ प्रभावित जिलों में प्रभारी सचिवों को हेलीकॉप्टर से भेजा गयाबरसात में हेपेटाइटिस और किड़नी की खराबी का अधिक खतरा