class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्टेट बैंक ग्राहक सेवा केन्द्र का संचालक गिरफ्तार

टीईटी परीक्षा में अभ्यर्थियों का नंबर बढ़ाने के नाम पर ठगी करने वाले शातिर ने स्टेट बैंक के ग्राहक सेवा केन्द्र में खाता खुलवाया था। कोतवाली थाना पुलिस ने फर्जी आईडी, नाम व पते पर खाता खोलने वाले ग्राहक सेवा केन्द्र के संचालक प्रसेनजीत कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़ा गया प्रसेनजीत नालंदा जिले के बिंद थाने के मसीया गांव का रहने वाला है। उसने नालंदा के गोखुलपुर थाने के बोधनगर में भारतीय स्टेट बैंक का ग्राहक सेवा केन्द्र चलाता है। उसके पास से पुलिस ने एक लैपटॉप, खाता खोलने का रजिस्टर व मोबाइल बरामद किया है। पूछताछ में प्रसेनजीत ने बताया कि इसी साल फरवरी माह से स्टेट बैंक ग्राहक सेवा केन्द्र चला रहा है। उनके ग्राहक सेवा केन्द्र में 3 अप्रैल को मतदाता पहचान पत्र पर जितेन्द्र प्रसाद नाम से एक खाता खोला गया। जिसके मूल आवेदन में 5 मार्च की तिथि को काटकर 27 फरवरी की गई है। तफ्तीश में जुटी पुलिस ने जितेन्द्र के नाम से खुले खाता के पहचान पत्र की जांच की तो वह फर्जी मिला। प्रसेनजीत ने दूसरे जिले के मतदाता पहचान पत्र पर खाता खोल दिया। उसने न तो पहचान पत्र का सत्यापन किया और न ही खातेदार से स्थानीय पता की मांग की।एसएसपी मनु महाराज ने टीईटी परीक्षा में नंबर बढ़ाने और पेंडिंग रिजल्ट प्रकाशित करवाने के नामपर ठगी करने वाले गिरोह ने फर्जी दस्तावेज से ग्राहक सेवा केन्द्र में खाता खुलवाया था। प्रसेनजीत को गिरोह को लाभ पहुंचाने, फर्जी पता पर खाता खोलकर फर्जीवाड़ा को बढ़ावा देने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। गिरोह के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:news brief
आम आदमी के सपनों की चिंता पीएम को नहीं : शिवानंदसमय से पहले कृषि उपादानों का आकलन करें: मंत्री