class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उपद्रवियों ने सीडीपीओ की बोलेरों में लगाई आग

हुलासगंज सीडीपीओ की बोलेरो ने शनिवार को हाटी मोड़ के पास वृद्ध पुरुष व एक महिला को कुचल दिया। इस घटना में 55 वर्षीय जमालपुर निवासी रामानंद यादव की मौके पर मौत हो गई, जबकि जोलह बिगहा के बंगाली भगत की पत्नी लक्ष्मीनिया देवी घायल होकर सड़क पर छंटपटाने लगी। बोलेरो से धक्का लगने पर दोनों की निकली चीख को सुन लोगों ने शोर मचाया तो भीड़ जमा हो गई। लोगों ने महिला को इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया और वाहन व उसके अंदर बैठीं सीडीपीओ तथा उनके ड्राइवर को घेर लिया। उन्हें गेट खोलकर बाहर निकलने तक का मौका नहीं दिया। दोनों को काफी देर तक बंधक बनाए रखा। इसकी सूचना मिलते ही भेलावर व घोसी थाने की पुलिस पहुंची। पीछे से काको बीडीओ नवकंज कुमार भी पहुंचे। भीड़ से मुक्त कराकर सीडीपीओ संगीता कुमारी सिन्हा व ड्राइवर योगेन्द्र पासवान को सुरक्षित जगह भिजवाया गया। प्रशासन की इस कार्रवाई से भीड़ आक्रोशित हो गई और बीडीओ से बहस करते हुए उनकी पिटाई कर दी। आक्रोशित भीड़ ने भेलावर ओपी प्रभारी रंजीत कुमार रंजीत के साथ भी धक्का-मुक्की की। भीड़ में शामिल उपद्रवी तत्वों ने बोलेरो को चाट में पलट दिया और उसमें आग लगा दी। देखते ही देखते बोलेरो धू-धूकर जल गई। इसकी सूचना जिला मुख्यालय में पहुंची तो डीएम मनोज कुमार सिंह व एसपी मनीष कुमार भी घटना स्थल के लिए रवाना हो गए। पुलिस बल के साथ पहुंचे द्वय अधिकारियों ने दोषियों पर कार्रवाई का आश्वासन देकर भीड़ को शांत कराया और जख्मी बीडीओ बीडीओ को इलाज के लिए सदर अस्पताल भिजवाया। मिली जानकारी के अनुसार, शनिवार को सीडीपीओ संगीता कुमारी सिन्हा विभाग की बोलेरो से कार्यालय जा रही थीं। इसी क्रम में हाटी मोड़ के समीप सड़क पार कर रहे रामानंद यादव को गाड़ी ने कुचल दिया। बुजुर्ग को कुचलने के बाद अनियंत्रित हुई गाड़ी की चपेट में सड़क किनारे खड़ी महिला भी आ गई। भेलावर ओपी प्रभारी रंजीत कुमार रंजीत और घोसी थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद ने भीड़ को नियंत्रित करने का काफी प्रयास किया। लेकिन, लोग उनकी सुनने को तैयार नहीं थे। भीड़ में शामिल लोग पुलिस-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। उनका कहना था कि वाहनों की गति पर नियंत्रण नहीं रखने के कारण आए दिन सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं। काको थानाध्यक्ष ज्योति बसु ने बताया कि मामला शांत हो गया है। शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया है। सुरक्षा की दृष्टि से हाटी मोड़ के पास पुलिस की तैनाती की गई है। अभी तक किसी पक्ष की ओर से एफआईआर के लिए आवेदन नहीं मिले हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Miscreants set fire on CDPO bolers
बक्सर में दुष्कर्म के बाद युवती को मारी गोलीऔरंगाबाद के कल्याण विभाग में हुआ लाखों रुपए का घोटाला