class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना में खुलेगा साइबर सिक्युरिटी का उत्कृष्ट संस्थान : रविशंकर

पटना में खुलेगा साइबर सिक्युरिटी का उत्कृष्ट संस्थान : रविशंकर

केन्द्रीय आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि साइबर सिक्युरिटी से संबंधित उत्कृष्ट कोटि का एक संस्थान पटना में खोला जाएगा। एनआईसी द्वारा स्थापित किया जाने वाला यह संस्थान डिजिटल पुलिसिंग, साइबर सिक्युरिटी प्रशिक्षण एवं डिजिटल फॉरेंसिक से संबंधित शोध संस्थान होगा। इसमें केन्द्र सरकार की संस्था सी-डैक और आईआईटी, पटना का भी सहयोग रहेगा। यह घोषणा गुरुवार को उन्होंने यहां होटल मौर्या में बिहार आईटी और आईटीईएस इनवेस्टर्स कॉन्क्लेव-2017 में की। श्री प्रसाद ने कहा कि डिजिटल समावेशन के लिए बिहार में बड़ा मौका उपलब्ध है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आईटी का द्वार खोला है। देश अब सॉफ्टवेयर आंदोलन के कगार पर खड़ा है। इसके लिए सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ इंडिया (एसटीपीआई) को और सक्रिय बनाया जाएगा। सॉफ्टवेयर के जरिए अभी 7 लाख करोड़ का निर्यात हो रहा है। वह देश की डिजिटल अर्थव्यवस्था के लिए 10 खरब (एक ट्रिलियन) का लक्ष्य लेकर चले थे, मगर विशेषज्ञों का मानना है कि यह 20 खरब हो जाएगा। दरभंगा और भागलपुर में खुलेगा एसटीपीआई केंद्र श्री प्रसाद ने कहा कि बिहार की युवाओं में काफी प्रतिभा है। स्टार्टअप में उनके नए आइडिया की सानी नहीं है। आईटी कंपनियां यहां आकर इनका चयन करें। केन्द्र सरकार इंटरनेट को गांव-गांव पहुंचाने के अपने लक्ष्य के तहत बिहार सरकार के साथ मिलकर यहां की 66 हजार जीविका बहनों को डिजिटल साक्षर बनाना चाहती है। एसटीपीआई का दरभंगा और भागलपुर में भी केन्द्र खुलेगा। बिहार में नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी एवं दिल्ली में वह खुद सक्रिय होंगे तो बिहार को देश का आईटी डेस्टिनेशन बनने से कोई रोक नहीं सकता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Cyber ​​Security Institute will open in Patna: Ravi Shankar
कम्प्यूटर शिक्षकों ने निकाला मशाल जुलूसउदयकांत मिश्रा ने लालू व तेजस्वी को भेजी नोटिस