class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनडीए और विपक्ष ने किए क्रॉस वोटिंग के दावे

राष्ट्रपति निर्वाचन प्रक्रिया में दलों ने क्रॉस वोटिंग के दावे किए। एनडीए प्रत्याशी रामनाथ कोविन्द के पक्ष में भाजपा तो विपक्षी दलों की ओर से प्रत्याशी मीरा कुमार के पक्ष में राजद ने दावा किया कि उनके उम्मीदवार के पक्ष में दूसरे दलों के लोगों ने वोट किए हैं। भाजपा विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि एनडीए प्रत्याशी रामनाथ कोविन्द बिहार के राज्यपाल रहे हैं। बिहार सरकार से उनके साथ बेहतर संबंध रहे हैं। इसी के आधार पर जदयू ने उनको समर्थन दिया। सरकार के अन्य घटक दल राजद व कांग्रेस के विधायकों का भी राज्यपाल से बेहतर संबंध रहा है। दावा किया कि उनकी इस छवि के कारण कांग्रेस व राजद के सदस्यों ने भी रामनाथ कोविन्द को वोट दिया। भाजपा नेता ने चारों निर्दलीय विधायकों के वोट भी रामनाथ कोविन्द के पक्ष में आने का दावा किया। दूसरी ओर, उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने दावा किया कि राजद व कांग्रेस के शत-प्रतिशत वोट राष्ट्रपति की उम्मीदवार मीरा कुमार को मिला है। भाजपा नेता ने क्रॉस वोटिंग की बात कहकर यह जता दिया कि एनडीए प्रत्याशी को कम वोट मिले हैं। इसलिए वे कांग्रेस व राजद के विधायकों पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहे हैं। हम विचारधारा की लड़ाई लड़ रहे हैं। तीन अलग-अलग राज्यों से पांच बार सांसद बनीं मीरा कुमार बिहार की बेटी हैं। प्रशासनिक सेवा की अधिकारी और लोकसभा अध्यक्ष रहीं मीरा कुमार एक भली महिला हैं। हमें पूरा भरोसा है कि मीरा कुमार की जीत होगी। कोट क्रॉस वोटिंग के दावे निराधार हैं। ऐसे आरोपों से विधायकों की छवि धूमिल होती है। -श्रवण कुमार, संसदीय कार्य मंत्री
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Cross-voting claims
उन्नाव में सड़क हादसे में गोपालगंज के तीन व्यवसायियों की मौतमेरा इस्तीफा मीडिया की दिमागी उपज : तेजस्वी