class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर की बिजली आपूर्ति सुधारने के लिए अब एक और योजना

राजधानी के बिजली उपभोक्ताओं के लिए एक अच्छी खबर है। बीस-बाइस लाख की आबादी को चौबीसों घंटे क्वालिटी बिजली देने की एक और और योजना सरजमीं पर उतारी जाएगी। इस योजना के लिए निजी एजेंसी का चयन कर लिया गया है। निजी एजेंसी ने सर्वे का काम भी शुरू कर दिया है। उम्मीद है कि महीनेभर में इस योजना को धरातल पर उतारने का काम शुरू कर दिया जाएगा। शहरभर में छह सौ नए ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे बिजली की मांग लगातार बढ़ने के चलते शहर की बिजली सप्लाई सिस्टम पर लोड बढ़ गया है। मौजूदा सप्लाई सिस्टम पूरा लोड लेने में सक्षम नहीं हो पा रहा है। इसलिए पूरे शहर में करीब छह सौ नए डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर लगाए जाने का फैसला किया गया है। पेसू के महाप्रबंधक दिलीप कुमार सिंह के मुताबिक आईपीडीसी योजना के तहत पटना पश्चिमी एरिया में 494 नए ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे। इसमें 315केवीए के 293 ट्रांसफार्मर हैं। जबकि 200केवीए के 12 ट्रांसफार्मर हैं। वहीं पूर्वी सर्किल के अधीक्षण अभियंता रंजीत कुमार के मुताबिक पूर्वी और मध्य पटना के एरिया में भी दो सौ नए ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे। शहर में इस समय करीब पांच हजार डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर हैं। सबस्टेशनों 25 नए पावर ट्रांसफार्मर भी लगाए जाएंगे जीएम के मुताबिक पावर सबस्टेशनों की क्षमता बढ़ाई जाएगी ताकि वे आने वाले दिनों में बिजली की बढ़ी हुई मांग को झेल सकें। इस स्कीम के तहत 10 एमवीए के पांच अतिरिक्त पावर ट्रांसफार्मर पावर सबस्टेशनों में लगाया जाएगा। साथ ही पुराने बचे हुए पांच एमवीए के 20 पावर ट्रांसफार्मरों को बदलकर 10 एमवीए का कर दिया जाएगा। पटना में 19 नए पावर सबस्टेशन भी बनेंगे राजधानी में 19 नए पावर सबस्टेशन भी बनाए जाएंगे। इसमें पश्चिमी पटना में 10 सबस्टेशन बनने हैं। हर पावर सबस्टेशन के लिए 11 केवी के 8-8 फीडर बनाए जाने हैं। ताकि सबस्टेशन से मोहल्लों तक बिजली पहुंचायी जा सके। जीएम ने बताया कि दो जगह खगौल (रेडियंट स्कूल) और आशोपुर में पावर सबस्टेशन निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके अलावा ट्रांसफार्मरों से गली-मोहल्लों तक बिजली को पहुंचाने के लिए नए एलटी लाइन भी बनाई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:citys power scenario will be change now
छात्रों को डिजिटल भुगतान की दी गई जानकारीदिलजीत खन्ना बने पंजाबी बिरादरी के अध्यक्ष (मस्ट-फोटो)