class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समय से पहले कृषि उपादानों का आकलन करें: मंत्री

कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि अधिकारी खरीफ, रबी और गरमा मौसम के लिए जरूरत के अनुसार उपादानों का आकलन कर लें। साथ ही समय से पहले ही इसकी व्यवस्था भी कर लें। इससे किसानों को समय पर उपादान देने में सुविधा होगी। कृषि मंत्री ने गुरुवार को बामेति में राज्य के सभी बीज, खाद और कीटनाशी तथा जैव उर्वरक निर्माता व वितरक कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि किसानों की अक्सर शिकायत रहती है कि उन्हें समय पर बीज, उर्वरक आदि नहीं मिलते हैं। किसानों की इस शिकायत पर ध्यान देने की आवश्यकता है। भविष्य में किसानों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए। मंत्री ने बैठक में उपस्थित कंपनियों के प्रतिनिधियों की समस्याएं व सुझाव भी सुने तथा उसके त्वरित समाधान के लिए संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिया। मंत्री ने कहा कि किसान अन्नदाता हैं। हमें इनकी सेवा करने का अवसर मिला है, तो हमें पूरी ईमानदारी के साथ इनके विकास के लिए कृतसंकल्पित होकर कार्य करना होगा। किसानों एवं राज्य के हित में गुणवत्तापूर्ण बीज, उर्वरक, कीटनाशी आदि की उपलब्धता सुनिश्चित करानी होगी, ताकि 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Brief news
स्टेट बैंक ग्राहक सेवा केन्द्र का संचालक गिरफ्तारविक्रम बाजार खंड में सड़क मरम्मति को मिली मंजूरी