class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लड़कियों को आत्मनिर्भर बना रही हैं रोजिना खानम

शिक्षित नहीं हो तो हम कुछ नहीं कर पायेंगे। शिक्षा हमारे जीवन का वो हथियार है जिसका इस्तेमाल कर हम आगे बढ़ सकते हैं। परिस्थिति कोई भी हो, अगर शिक्षित हैं तो हम गिर कर भी उठ सकते हैं। अपने जीवन से कुछ ऐसा ही सीख लेकर रोजिना खानम आज सैकड़ों लड़कियों को आत्म निर्भर बना रही हैं। सब्जीबाग, पटना की रहने वाली रोजिना खानम उन लड़कियों को खासकर शिक्षित और आत्म निर्भर करने में जुटी है जो किसी भी कारण से पढ़ाई नहीं कर पायी है। अनपढ़ है और घर में रह रही है। ऐसी लड़कियों की पहले काउंसिलिंग करना, उनकी इच्छा जानना और फिर उन्हें उनके मकसद तक पहुंचाने में रोजिना खानम मदद करती है। रोजिना खानम ने बताया कि हमारे देश में गरीबी की सबसे बड़ी वजह अशिक्षा है। अगर बात महिलाओं की करें तो अशिक्षित होने के कारण ही महिलाएं आगे नहीं बढ़ पाती है।सात सौ से अधिक लड़कियां हो चुकी हैं आत्मनिर्भर रोजिना खानम उन लड़कियों को खोजती हैं जो किसी भी वजह से पढ़ नहीं पायी। ऐसी लड़कियों के लिए रोजिना खानम ने सेंटर खोल रखा है। इन लड़कियों को सेंटर पर लाती है। पहले उनकी काउंसिलिंग करती हैं। उन्हें आत्म निर्भर बनने के लिए प्रेरित करती हैं। उनकी जो रुचि होती है, उसी में उन्हें आगे बढ़ाती हैं। रोजिना खानम ने बताया कि 2006 से वो लड़कियों को शिक्षित कर आत्म निर्भर बनाने का काम कर रही हैं। अभी तक सात सौ से अधिक ऐसी लड़कियों को शिक्षा से जोड़ चुकी हैं।परिवार के विरोध का सामना कर लड़कियों को कर रही शिक्षित रोजिना खानम ने बताया कि बेटियों को अभी भी लोग शिक्षित नहीं करना चाहते हैं। बेटियों की पढ़ाई पर खर्च करना और उन्हें घर से बाहर निकालने के लोग विरोधी हैं। ऐसे में मैने जब यह काम शुरू किया तो कई दिक्कतें आयीं। लड़कियों को उनके परिवार वाले बाहर नहीं आने देते थे। ऐसे में पहले परिवार वाले को समझाना पड़ता था। उसके बाद लड़कियों को मै अपने सेंटर तक लाती हूं। इन लड़कियों को उनकी रुचि के अनुसार सिलाई कढ़ाई, ड्रेस डिजाइनिंग, कंप्यूटर कोर्स, ब्यूटिशियन, ज्वेलरी मेकिंग आदि सिखाने के साथ ओपन स्कृलिंग से मैट्रिक और इंटर की पढ़ाई भी करवाती हूं। शिक्षित होने के कारण मिली भारत की नागरिकतादेश के बंटवारे के बाद परिवार पाकिस्तान चला गया। घर आदि छूट गया तो बहुत परेशानी हुई। बचपन में इसका असर पढ़ाई पर पड़ा। बड़ी हुई तो शादी पटना में हो गयी। रोजिना खानम ने बताया कि भारत की नागरिकता लेने के लिए उन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ी। शिक्षित होने के कारण ही उन्हें भारत की नागरिकता मिलने में आसानी हुई। रोजिना खानम ने बताया कि हमारा देश तभी पूरी तरह से आजाद हो पायेगा जब हर कोई शिक्षित होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Brie news
ग्रमीण अस्पतालों में अधिक दम तोड़ रही हैं बच्चियांइस्तीफा दे यूपी सरकार : ब्रिगेड कांग्रेस