class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गया बाबू के उत्तराधिकारी बताएं, कहां ठहरे थे गांधी जी : नीतीश

गया बाबू के उत्तराधिकारी बताएं, कहां ठहरे थे गांधी जी : नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि गया बाबू के उत्तराधिकारी बताएं कि गांधी जी दस अप्रैल-1917 को मुजफ्फरपुर के दौरे के दौरान किस मकान में ठहरे और रात्रि विश्राम किए थे। उस जगह का राज्य सरकार मुआवजा देकर अधिग्रहण करेगी। वहां संग्रहालय बनेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं जब मुजफ्फरपुर गया था तो मैं जानना चाहता था कि दस अप्रैल की रात को गांधी जी कहां ठहरे थे। लेकिन कोई वाजिब जवाब नहीं मिल सका। राज्य सरकार उस जगह को विकसित करना चाहती है। सोमवार को मुख्यमंत्री लोक संवाद कार्यक्रम में इसी मुद्दे पर मुजफ्फरपुर के अशोक भारती सुझाव लेकर पहुंचे थे। उन्होंने सीएम को बताया कि गया बाबू के मकान के जिस हिस्से में गांधी जी ने रात में विश्राम किया था, वह आज उनके पोते इंदू शेखर के हिस्से में है। राज्य सरकार उचित मुआवजा देकर उस हिस्से को विकसित करे। उन्होंने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि इंदू शेखर भी आए हुए हैं। उन्हें तत्काल बाहर से अंदर बुलाया गया। मुख्यमंत्री ने उनसे भी बात की। कला संस्कृति एवं युवा विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद ने कहा कि मुजफ्फरपुर डीएम की रिपोर्ट आयी थी, जिसमें बताया गया था कि गांधी जी जहां रुके थे, वह मकान टूट चुका है और वहां नया मकान बना है। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि गया बाबू के उत्तराधिकारी आपस में बात करें और बताएं कि गांधी जी कहां पर रुके थे। उन्होंने चैतन्य प्रसाद को निर्देशित किया कि इस मामले को आप दिखवाएं। लोक संवाद में सुझाव देने वालों में पटना के विनोद भारती, रोहतास के धर्मेंद्र कुमार, पटना के सौरव सिंह, बेगूसराय के चंदन कुमार, खगड़िया के कुणाल कुमार सिंह, पटना की नूतन कुमारी शामिल थे। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव समेत संबंधित विभागों के मंत्री और आलाधिकारी भी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bihar lok samvad
अपराध पर कोताही बर्दाश्त नहीं : नीतीशकोविंद को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाना ऐतिहासिक फैसला : रामविलास