class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस वर्दी में आए किडनैपरों ने किया नवविवाहिता का अपहरण

rape, file photo

भागलपुर के बबरगंज थाना क्षेत्र के महेशपुर स्थित काली स्थान के समीप राजा साह की नवविवाहिता साक्षी साह का शनिवार देर शाम अपहरण कर लिया गया। सास-ससुर ने बताया कि अपहरणकर्ता पुलिस के वेश में आए थे और नवविवाहिता को अपने साथ थाने ले जाने की बात कहकर चले गए।

थाने का घेराव किया
देर रात घर पहुंचे पति राजा साह और उसके बड़े भाई अरविंद साह जब घर पहुंचे तो परिजनों ने इस बात की जानकारी उन्हें दी। जिसके बाद वे दोनों इस बात की जानकारी लेने बबरगंज थाना पहुंचे पर पुलिस ने ऐसी किसी पुलिस को उनके घर भेजने से इंकार कर दिया। चारों तरफ खोजबीन करने के बाद रविवार सुबह ससुराल पक्ष के लोगों ने अपने रिश्तेदारों के साथ जमा होकर थाने का घेराव किया और इस बात की शिकायत पुलिस के उच्च अधिकारियों से करने की बात कही। राजा की मां श्यामा देवी और पिता वासुदेव साह ने बताया कि शनिवार शाम वे दोनों और उनकी दोनों बहू (राजा की पत्नी और अरविंद की पत्नी) घर पर थे।

साक्षी को गाड़ी में बिठाकर अपने साथ लेकर चले गए
इसी दौरान बोलेरो गाड़ी से एक हथियारबंद पुरुष और एक महिला पुलिस की वर्दी में घर में आ धमके और अपने आप को दिल्ली पुलिस का बताते हुए साक्षी की तलाश करने लगे। साक्षी के भीतर से निकलते ही उन लोगों ने साक्षी को जबरदस्ती थाना ले जाने की बात कहकर अपने साथ जाने को कहा। इस दौरान जब बूढ़े सास-ससुर ने बेटों के आ जाने का इंतजार करने की बात कही तो पुलिसवालों ने उन दोनों धकेल दिया और जबरदस्ती साक्षी को गाड़ी में बिठाकर अपने साथ लेकर चले गए। मामले में राजा के बड़े भाई ने मोहल्ले में ही लगे सीसीटीवी कैमरे लगे होने की बात कही। उनका दावा है कि अगर पुलिस उस सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगालेगी तो मामले से पर्दा उठ सकता है। परिजनों ने पूरे घटना के पीछे साक्षी के मायके वालों के होने की साजिश बताई। 

क्या है मामला 
अपहृत नवविवाहिता साक्षी के पति राजा साह ने बताया कि बीते चार जून को उसने बरारी के शिवशंकर साह उर्फ नागराज जोकि वर्तमान में नोएडा में रहते हैं उनकी पुत्री साक्षी के साथ गोड्डा जिला में भाग कर शादी कर ली थी। इसके बाद लड़की के परिजनों ने मामले में राजा के उपर अपहरण का केस भी दर्ज कराया था। मामले में लड़के वालों द्वारा लड़के और लड़की को कोर्ट में पेश कर दिया था। जिसके बाद कोर्ट ने साक्षी को उसके ससुरालवालों को सौंपकर लड़के को जेल भेज दिया था।

जिसके बाद दस दिनों के भीतर ही राजा को बेल मिल गई थी। उसके बाद से ही साक्षी को उसके परिवारवालों द्वारा फोन कर लगातार वापस मायके लौटने के लिए मजबूर किया जा रहा था। पर साक्षी मायके जाने से इंकार कर देती थी।

सिटी डीएसपी शहरयार अख्तर से रविवार सुबह हुई बात में उन्होंने बताया कि मामले के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। और न ही किसी पुलिस द्वारा किसी महिला या युवती को बरामद करने की बात का पता चला है। अगर दिल्ली पुलिस भागलपुर आकर किसी को बरामद या गिरफ्तार करती है तो उन्हें भागलपुर पुलिस को इसकी सूचना देनी होगी। मगर इस तरह की कोई सूचना पुलिस को नहीं दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:newly married girl kidnapped, kidnappers came in police uniform
दक्षिणी क्षेत्र में विषहरी पूजा को लेकर निगम की तैयारी अधूरी बाढ़ से जोगवनी के बाद अब सिलीगुड़ी रूट पर खतरा, कई ट्रेनें ठप