class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भागलपुर में दो मासूम की गला दबाकर हत्या, बोरे में बंदकर शव फेंका

brutally murder of 2 child in bhagalpur

भागलपुर के नारायणपुर के भवानीपुर थाना क्षेत्र के रायपुर में दो मासूम बच्चों की गला दबाकर हत्या कर अपराधियों ने शव को रायपुर बजरंगबली चौक स्थित भंवरे के नीचे जलकुंभी में छिया दिया था। मृतक बच्चों की पहचान रायपुर निवासी अंग्रेज शर्मा की आठ वर्षीय पुत्री सोनाली कुमारी एवं भवेश शर्मा के छह वर्षीय पुत्र युवराज कुमार के रूप में हुई है।

मृतक बच्चों के पिता के बयान पर आठ लोगों पर हत्या का केस दर्ज कराया गया है। सोमवार को जलकुंभी में दो बच्चों के शव होने से इलाके में सनसनी फैल गई। लोगों की भीड़ वहां पर जमा हो गई। सूचना पर भवानीपुर थानाध्यक्ष जयंत प्रकाश दलबल के साथ घटनास्थल पहुंचे और शव को जलकुंभी से बाहर निकाला।

दोनों बच्चों की आगे की दांत टूटी हुई थी। शव को देखने से ऐसा प्रतीत हो रहा था कि गला दबाकर हत्या कर शव को वहां छिपाया गया है। मृतक बच्चों के पिता भवेश शर्मा एवं अंग्रेज शर्मा ने अपने-अपने बच्चों की हत्या का आरोप लगाते हुए भवानीपुर थाना में हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई है जिसमें रायपुर निवासी भवेश शर्मा, श्रवण शर्मा, शंकर शर्मा, अनिरुद्ध, प्रमोद, जुलो सहित आठ आदमी के विरुद्ध आरोप लगाया गया है।

देर रात भवानीपुर पुलिस ने प्रमोद शर्मा के बेटा आशीष कुमार को गिरफ्तार किया है। दो दिन पूर्व पेंसिल खरीदने घर से निकले थे दोनों बच्चे घटना की सूचना पर एसडीपीओ मुकुल कुमार रंजन भवानीपुर थाना पहुंचे और उन्होंने घटना की पूरी जानकारी ली। भवेश शर्मा एवं अंग्रेज शर्मा ने बताया कि दो दिन पूर्व 15 जुलाई को दो बजे दिन में दोनों बच्चे एक साथ पेंसिल खरीदने के लिए घर से निकले थे।

उसके बाद से ही उसका कोई अता-पता नहीं था। बच्चों के पिता ने भवानीपुर थाना में बच्चों के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। भवानीपुर पुलिस द्वारा माइकिंग भी की गयी थी और वायरलेस से सभी थाने को इसकी सूचना भी दी गई थी। मकई के बोरा पर मिले हैं खून के निशान खोजबीन के दौरान किसी ने बताया कि बच्चे प्रवीण शर्मा के घर में हैं। इस पर प्रवीण शर्मा ने एक लाख रुपये का बाजी लगाते हुए कहा कि मेरे यहां बच्चा नहीं है।

दोनों बच्चे को मकई के बोरा पर खेलते हुए मनोज शर्मा, मंगल दास एवं सुशील दास द्वारा देखा गया। पुलिस ने मंगल दास को हिरासत में लेकर पूछताछ की है। बाद में उसको रात में छोड़ दिया गया। चर्चा है कि मकई बोरा पर खेलने के क्रम में दोनों बच्चों के उपर मकई का बोरा गिरने से दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए थे। डर के मारे बच्चों की गला दबा कर हत्या करने के बाद शव को जलकुंभी में छिपा दिया गया था। एसडीपीओ मुकुल कुमार रंजन ने लोगों की सूचना पर मकई बोरा की जांच की जिसमें एक बोरा पर खून के निशान मिले हैं।

उस बोरा को पुलिस ने पुलिस ने मनरेगा भवन में रखवाया है। एक बच्चे के पिता चाय दुकानदार तो दूसरे के मजदूर हैं मृतक एक बच्चे के पिता भवेश शर्मा चाय दुकानदार हैं जबकि अंग्रेज शर्मा पेट्रोल पंप पर मजदूरी करता है। एसडीपीओ ने बताया कि दो बच्चों का शव बरामद किया गया है। बच्चों के पिता द्वारा हत्या करने का आरोप लगाते हुए चार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। मामला मकई बोरा से जुड़ा हुआ है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। बच्चों की मौत के बाद परिजन शोकाकुल रायपुर में दो मासूम बच्चे की मौत के बाद परिवार में शोक का माहौल है।

बच्चों की मां का रोते-रोते बुरा हाल है। वहीं बच्चों के पिता भी गमगीन बने हुए हैं। किसी को विश्वास नहीं हो रहा है कि घर से पेंसिल खरीदने निकले बच्चे का खून से सना हुआ शव घर आएगा। बच्चों की निर्मम हत्या से जहां परिजनों में आक्रोश है। वहीं दोनों छोटे बच्चों की मां की हालत खराब हो रही है। देर रात तक परिवार में कोहराम की स्थिति है। शव को नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:murder of two child in raipur
बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना मेडिकॉन का उद्देश्य : सीएमडीपूर्व पदाधिकारी और रिश्तेदार के बेटे भी किए गए थे बहाल