class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VASTU TIPS: सुकून की नींद चाहिए तो करिए यह काम

शयन कक्ष सबसे महत्वपूर्ण जगह है। इसका सुकून और शांतिभरा होना जरूरी है। कई बार शयन कक्ष में सभी सुविधाएं होने के बावजूद नींद नहीं आती। मुख्य शयन कक्ष  घर के दक्षिण-पश्चिम (नैऋत्य) या उत्तर-पश्चिम (वायव्य) में होना चाहिए। अगर घर में एक मकान की ऊपरी मंजिल है तो मुख्‍य शयन कक्षा ऊपरी मंजिल के दक्षिण-पश्चिम कोने में होना चाहिए।

शयन कक्ष में सोते समय हमेशा सिर दीवार से सटाकर सोना चाहिए। पैर दक्षिण और पूर्व दिशा में करने नहीं सोना चाहिए। उत्तर दिशा में पैर करके सोने से स्वास्थ्य लाभ तथा आर्थिक लाभ की संभावना रहती है। पश्चिम दिशा में पैर करके सोने से शरीर की थकान निकलती है। नींद अच्छी आती है। जानिए और क्‍या होना चाहिए बैडरूम में।

धर्म ज्योतिष की और भी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

  • बिस्तर के सामने आइना कतई न लगाएं।
  • शयन कक्ष के दरवाजे के सामने पलंग न लगाएं।
  • डबलबेड के गद्दे अच्छे से जुड़े हुए होने चाहिए।
  • शयन कक्ष के दरवाजे से आवाज नहीं आनी चाहिए।
  • शयन कक्ष में धार्मिक चित्र नहीं लगाने चाहिए।
  • पलंग का आकार यथासंभव चौकोर रखना चाहिए।
  • पलंग की स्थापना छत के बीम के नीचे नहीं होनी चाहिए।
  • लकड़ी से बना पलंग श्रेष्ठ रहता है। लोहे से बने पलंग वर्जित हैं।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:If you want restless sleep do these work