class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जन्माष्टमी 2017: जानिए भगवान श्रीकृष्ण को क्यों लगाया जाता है 56 भोग

कृष्ण पक्ष की अष्टमी को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है

1/2 कृष्ण पक्ष की अष्टमी को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है

भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी। इसे पूरे जोश के साथ मनाया जाता है। भगवान श्रीकृष्ण को उनके भक्त माखन के अलावा उन्हें प्रसन्न करने के लिए मिश्री का भोग लगाते है। इस दिन को पूरे देश में कई रीति-रिवाजों के साथ मनाया जाता है। हालांकि कई क्षेत्रों में जन्माष्टमी का उत्सव अपने-अपने तरीके से मनाया जाता है, ज्यादातर लोग जन्माष्टमी के दिन पूरे दिन का उपवास रखते हैं। सूर्यास्त के बाद मंदिरों में भजन-कीर्तन किया जाता है। 

वहीं कुछ लोग व्रत रखने के साथ आधी रात तक जागते हैं क्योंकि माना जाता है भगवान श्रीकृष्ण का जन्म मध्यरात्रि में हुआ था। जन्माष्टमी के अगले दिन को नंद उत्सव के रूप में मनाया जाता है। भगवान कृष्ण को 56 भोग चढ़ाया जाता है। आपको पता है श्रीकृष्ण को 56 भोग क्यों लगाए जाते है।
 

Next
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:why shri krishna is offered 56 bhog during Janmashtami 2017
आपकी अंकराशि: जानिए कैसा रहेगा आपके लिए 14 अगस्त का दिनजन्माष्टमी 2017 : कल धूमधाम से मनाई जाएगी जन्माष्टमी, पढ़े शुभ मुहूर्त