class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सक्सेस मंत्र: संतोष का पेड़ कड़वा है लेकिन इसके फल मीठे होते हैं

life

एक संत भगवान के सामने बड़े ही शांत मन से प्रार्थना कर रहे थे। एक अमीर व्यापारी उनकी भक्ति और ईमानदारी निष्ठा देखकर उस संत से बहुत प्रभावित हुआ। उस अमीर व्यापारी ने फैसला किया कि वह अपना सोने से भरा बैग उन्हें दे देगा। अमीर व्यापारी ने संत से कहा, 'मैं जानता हूं कि आप इस पैसे का इस्तेमाल भगवान के कार्यों में करोगे, इसलिए इसे रख लो'।  संत ने यह सब सुना और कहा, 'आपसे इस तरह पैसे लेना नैतिकता के विरुद्ध है। क्या आप एक अमीर आदमी हैं और क्या आपके घर में और भी पैसा है'?

अमीर आदमी ने कहा, हां मेरे पास घर में एक हजार सोने के सिक्के हैं। संत ने उससे पूछा, ' क्या तुम एक हजार सोने के सिक्के और लेना चाहोगे? अमीर आदमी ने कहा, क्यों नहीं, हर रोज मैं इसलिए तो मेहनत करता हूं ताकि ज्यादा से ज्यादा पैसे कमा सकूं।

संत ने फिर पूछा, क्या तुम्हें इससे भी ज्यादा सोने के सिक्के चाहिए? अमीर व्यापारी ने जवाब दिया, हां बिल्कुल, मैं रोज भगवान से यही प्रार्थना करतां हूं?
तब संत ने बैग वापस करते हुए कहा, मैं तुमसे पैसे नहीं ले सकता, क्योंकि एक अमीर आदमी एक भिखारी से पैसे कैसे ले सकता है।

इस पर गुस्से में अमीर व्यापारी ने कहा, तुम कैसे खुद को अमीर और मुझे भिखारी कह सकते हो?

तब संत ने जवाब दिया, 'मैं अमीर इंसान हूं, क्योंकि भगवान ने मुझे जो दिया है मैं उसमें संतुष्ट हूं, लेकिन तुम भिखारी हो, तुम्हें भगवान ने इतना सब दिया है लेकिन फिर भी तुम भगवान से हमेशा मांगते रहते हैं और हमेशा असंतुष्ट रहते हो। 

सीख:संतोष का पेड़ कड़वा है लेकिन इसके फल मीठे होते हैं 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Success spells: Satisfaction tree is bitter but its fruits are sweet
काले कपड़े में उड़द दाल के साथ ये चीजें लपेटकर नदी में बहाएं, होगा ये चमत्कारराशिफल: 14 अक्टूबर को क्या कहते हैं आपके सितारे