class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सक्सेस मंत्र: खराब परिस्थितियों में भी सहज बने रहें

Success mantra

गोदावरी नदी का तट और उसके नजदीक एकाग्रता पूर्ण तरीके से संत एकनाथ बैठे हुए थे। उनके दर्शन के लिए दूर-दूर से लोग आते थे। वह जिस गांव में रहते थे, वहां एक चबूतरा था। जहां दिनभर संत विरोधियों का जमघट रहता था।

एक दिन वहां एक व्यक्ति आया और तब उन्होंने कहा, तुम संत एकनाथ को नाराज करके दिखाओ। इसके बदले में हम तुम्हें धन देंगे। लालच के वश में वशीभूत वह व्यक्ति संत एकनाथ के पास जा पहुंचा।

वह व्यक्ति ध्यान में बैठे हुए संत एकनाथ को तरह-तरह की गतिविधियों से परेशान करने लगा। एकनाथ शांत रहे। उन्होंने आंखे खोली और उससे कहा, 'बंधु आज का भोजन तुम यहीं करके जाओ।'

व्यक्ति ने सोचा भी नहीं था कि जिन संत को वह इतना प्रताड़ित कर रहा है वह उसे भोजन के लिए भी आमंत्रित करेंगे। उनकी इस क्षमाशीलता को देख वह व्यक्ति अभिभूत हो गया।


इस बात का ध्यान रखें कि गुस्सा हमारा शत्रु है। इसलिए हमेशा कठिन परिस्थिति में भी गुस्से पर काबू पाएं और सहज बनें रहें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Success Mantras how to treat Bad Conditions in life
सावन 2017: तीनों लोकों में प्रतिष्ठित हैं महाकाल, इस बार मिलेगी विशेष कृपाअखंड सौभाग्य का आशीर्वाद देती हैं मां गौरी