class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सक्सेस मंत्रः जिंदगी में आप जो बोएंगे वही पाएंगे, ईमानदारी से काम करेंगे तो जरूर सफल होंगे

success

एक किसान था। एक बेकरी वाला उससे रोजाना दो किलो मक्खन खरीदा करता था। एक दिन बेकरी वाले ने मक्खन का वजन तोलने का फैसला लिया, यह देखने के लिए कि इसकी मात्रा कम तो नहीं होती। मक्खन तोला गया, तो वह वास्तव में कम था। बेकर गुस्से से आगबबूला हो गया और किसान को लेकर अदालत पहुंचा।

वहां जज ने किसान से पूछा कि मक्खन को तोलने के लिए आप किस माप का इस्तेमाल करते हैं?

किसान ने जवाब दिया- श्रीमान! मैं गरीब हूं, मेरे पास इसके लिए कोई निश्चित उपाय नहीं है। लेकिन, फिर भी एक पैमाना है।

जज ने कहा कि फिर कैसे तुम मक्खन तोलते हो?

किसान ने तब जवाब दिया कि लंबे समय से जब से बेकर मुझसे मक्खन खरीद रहा है, मैं उससे दो किलो ब्रेड खरीद रहा हूं। हर सवेरे जब बेकर ब्रेड लेकर आता है, मैं उसी को तराजू पर रख देता हूं और उतनी ही मात्रा में मक्खन तोलकर दे देता हूं। मक्खन की मात्रा कम होने का अगर कोई दोषी है, तो वह बेकर ही है।

सीखः धोखे के बदले धोखा ही मिलता है। अगर इमानदारी के काम करोगे तो जरूर सफल होगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:do work with honesty
श्राद्धपक्ष: श्राद्ध के दौरान समय, भोजन और व्यवहार के ये हैं नियमराशिफल: 14 सितंबर को क्या कहते हैं आपके सितारे