class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जन्माष्टमी 2017: लाड़ले के जन्मोत्सव को आतुर ब्रजवासी, मंदिर और बाजार सजे

श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर सजे मंदिर और बाजार

1/2 श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर सजे मंदिर और बाजार

श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव को श्रीकृष्ण जन्मस्थान के साथ शहर के प्रमुख बाजार सजने संवरने लगे हैं। कहीं पर तोरण द्वार बन रहे हैं तो कहीं जन्मोत्सव में सहभागी बनने को देश-विदेश से आने वाले भक्तों की आवभगत की तैयारी चल रही है। तिथि भ्रम के चलते जन्माष्टमी महोत्सव की धूम तीन दिन तक रहेगी। कृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार इस वर्ष 14 से 16 अगस्त तक मनाया जाएगा। श्रीकृष्ण जन्मस्थान, द्वारिकाधीश मंदिर समेत ब्रज के प्रमुख मंदिरों में यह त्यौहार 15 अगस्त को मनाया जाएगा।

16 अगस्त को गोकुल समेत समूचे ब्रज में नंदोत्सव की धूम मचेगी। इसे देखते हुए श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर विद्युत सजावट का काम शुरू हो गया है। मंदिर की रंगाई-पुताई और सफाई चल रही है। जन्मस्थान की ओर प्रवेश करने वाले मार्गों पर स्वागत द्वार बनाए जा रहे हैं। नगर निगम द्वारा तीन विशेष द्वार भी बन रहे हैं।

इधर, भरतपुर गेट पर स्वागत द्वार बनकर तैयार हो चुका है, जबकि रूपम टाकीज पर वाटरप्रूफ यात्री विश्रम गृह व मसानी चौराहे पर सामान घर और विश्रम गृह बन रहा है। रंगेश्वर महादेव स्थित गौड़ीय मठ में सजावट चल रही है। यहां विशाल द्वार बन रहा है। समूचे बाजार को सजाने की तैयारी शुरू हो गई है। शहर के प्रमुख व्यापारिक व सामाजिक संगठन भी विभिन्न बाजारों की सजावट करने में जुट गए हैं। श्रद्धालुओं का आगमन यहां 14 से ही शुरू हो जाएगा।

यह भी पढ़ें- जन्माष्टमी 2017 : जानें कब है जन्माष्टमी, पढ़े शुभ मुहूर्त

Next
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:decoration of temples in full swing for Krishna Janmashtami celebration in mathura Vrindavan
घर में होगी ये एक चीज तो लक्ष्मी करेंगी निवासराशिफल: 13 अगस्त को क्या कहते हैं आपके सितारे