Image Loading all are ram - Hindustan
मंगलवार, 17 अक्टूबर, 2017 | 16:21 | IST
खोजें
ब्रेकिंग
  • स्पोर्ट्स स्टार: IPL 10 में कैप के लिए बल्लेबाजों में रोचक जंग, भुवी पर्पल कैप की दौड़...
  • बॉलीवुड मसाला: 'बाहुबली 2' की कमाई तो पढ़ ली, अब जानें स्टार्स की सैलरी। यहां पढ़ें,...
  • IPL 10 #DDvSRH: जीत के ट्रैक पर लौटी दिल्ली डेयरडेविल्स, हैदराबाद को 6 विकेट से हराया
  • IPL 10 #DDvSRH: 5 ओवर के बाद दिल्ली का स्कोर 46/1, लाइव कमेंट्री और स्कोरकार्ड के लिए यहां...
  • IPL 10 #DDvSRH: हैदराबाद ने दिल्ली को दिया 186 रनों का टारगेट, युवराज ने जड़ी फिफ्टी
  • IPL 10 #DDvSRH: 16 ओवर के बाद हैदराबाद का स्कोर 126/3, लाइव कमेंट्री और स्कोरकार्ड के लिए यहां...
  • IPL 10 #DDvSRH: 10 ओवर के बाद हैदराबाद का स्कोर 83/2, लाइव कमेंट्री और स्कोरकार्ड के लिए यहां...
  • Funny Reaction: प्रियंका की ड्रेस पर हुई 'दंगल की कुश्ती', लोगों ने यूं लिए मजे, पढ़ें...
  • स्टेट न्यूज़ : पढ़िए, राज्यों से अब तक की 10 बड़ी ख़बरें
  • स्पोर्ट्स स्टार: रोहित शर्मा का कमाल, आईपीएल में ऐसा करने वाले बने चौथे...
  • बॉलीवुड मसाला: 'भल्लाल देव' का खुलासा- इसलिए बताई एक आंख से ना देख पाने की बात।...
  • टॉप 10 न्यूजः पढ़ें सुबह 9 बजे तक देश-दुनिया की बड़ी खबरें एक नजर में
  • हेल्थ टिप्सः आसपास सोने वालों की नहीं होगी नींद खराब, ऐसे लगेगी खर्राटों पर लगाम
  • हिन्दुस्तान ओपिनियनः पढ़ें वरिष्ठ तमिल पत्रकार एस श्रीनिवासन का लेख- तमिल...
  • मौसम दिनभरः दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना में रहेगी तेज धूप। देहरादून और रांची में...

भगवान के इशारों को समझें और उनपर विचार कर आगे बढ़ें

लाइव हिन्दुस्तान First Published:05-04-2017 02:54:49 AMLast Updated:05-04-2017 03:41:24 PM
भगवान के इशारों को समझें और उनपर विचार कर आगे बढ़ें

सिय राम मय सब जग जानी ;
करहु प्रणाम जोरी जुग पानी !

अर्थात

सब में राम हैं और हमें उनको हाथ जोड़ कर प्रणाम करना चाहिए!

एक दिन तुलसीदास जी अपने गांव की ओर जा रहे थे, कि किसी बच्चे ने आवाज देकर कहा कि महात्मा उधर से मत जाओ। उस तरफ एक बैल बहुत गुस्से मे है और आपने लाल वस्त्र पहन रखा है। बालक की बात को अनसुनी करते हुए तुलसीदास जी ने विचार किया कि बालक उन्हें उपदेश दे रहा है। इसके अलावा उन्हें अपनी ही लिखी पक्ति याद आई कि सभी में राम बसे हैं।

उन्होंने सोचा कि उस बैल को प्रणाम करुंगा और निकल जाउंगा। यह सोचते-सोचते वे आगे बढ़ गए और बैल के नजदीक पहुंच गए। इसी बीच बैल ने उन्हें मारा और वे गिर पड़े। किसी तरह बचते-बचते वह वापस आए। इसके बाद वे वहां पहुंचे जहां श्री रामचरितमानस लिख रहे थे। सीधा चौपाई पकड़ी और उसे फाड़ने जा रहे थे कि श्री हनुमान जी प्रकट हो गए।

उन्होंने कहा, तुलसीदास जी ये क्या कर रहे हो?
तुलसीदास जी ने क्रोधपूर्वक कहा, यह चौपाई गलत है और उन्होंने सारा वृत्तान्त कह सुनाया। हनुमान जी ने मुस्करा कर कहा- महात्मा चौपाई तो एकदम सही है आपने बैल में तो भगवान को देखा पर बच्चे में भगवान को नहीं देख पाए। आखिर उसमे भी तो भगवान राम थे। वे तो आपको रोक रहे थे पर आप ही नहीं माने।

ऐसे ही छोटी-छोटी घटनाएं हमें बड़ी घटनाओं के होने से पूर्व संकेत देती हैं लेकिन कई बार हम उन्हें दरकिनार कर देते हैं। हम अगर भगवान के उन इशारों को समझें और उनपर विचार कर आगे बढ़ें तो बड़ी घटनाओं से बचा जा सकता है।

इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: all are ram
 
 
 
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड